पड़ोस में रहने वाली कॉलेज टीचर

antarvasna, teacher sex stories

मेरा नाम अमित है मैं पुणे का रहने वाला हूं, मेरी उम्र 23 वर्ष है और मैं जिस कॉलेज में पढ़ता हूं वहां से मैं एमबीए की पढ़ाई कर रहा हूं। मेरा यह प्रथम वर्ष है। मैं पहले किसी और कॉलेज में था लेकिन मैंने इसी वर्ष इस कॉलेज में दाखिला लिया है इसलिए मैं ज्यादा लोगों को पहचानता नहीं हूं। मैंने जब इस कॉलेज में दाखिला लिया तो पहले दिन हमारा इंट्रोडक्शन हुआ और सब लोगों को हम से मिलवाया गया, उसके बाद मेरी भी काफी लोगों से पहचान होने लगी थी और मेरे कुछ दोस्त भी बनने लगे थे। मैं पुणे का ही रहने वाला हूं इसलिए ज्यादातर लोग पुणे के ही रहने वाले थे, जो हमारे कॉलेज में पढ़ रहे थे और कुछ लोग अन्य राज्यों से भी पढ़ने के लिए आए हुए थे। मेरे पिताजी का प्रॉपर्टी का काम है और वह प्रॉपर्टी का काम काफी वक्त से कर रहे हैं।

उन्हें प्रॉपर्टी का काम करते हुए 15 वर्ष हो चुके हैं। मेरे पिताजी ने भी काफी प्रॉपर्टी जोड़ रखी है और उनके बहुत सारे दोस्त हैं जो कि प्रॉपर्टी का काम करते हैं इसीलिए मैं उनको भी पहचानता हूं। वह लोग भी हमारे घर पर अक्सर आते हैं। मेरे पिताजी ने मुझे कभी भी किसी प्रकार की कोई कमी नहीं होने दी। मैंने जब कॉलेज में एडमिशन लिया तो उसके कुछ दिनों बाद ही उन्होंने मुझे एक नई कार दिलवा दी। अब मैं अपने कॉलेज कार से ही जाता था। मैं जिस कॉलोनी में रहता हूं, वहां भी मेरे पिताजी को सब लोग पहचानते हैं और मेरे पिताजी की काफी इज्जत करते हैं क्योंकि हम लोग उस कॉलोनी में काफी वक्त से रह रहे हैं। मेरे पिताजी और मेरे बीच में बहुत ही अच्छे रिश्ते हैं, वह मुझसे बहुत ही प्रेम करते हैं और हमेशा ही मुझे अपने दोस्त के तरीके से बात करते हैं। मुझे भी उनसे बात करना बहुत अच्छा लगता है और मैं भी उन्हें हर चीज बताता रहता हूं। मेरे पिताजी एक दिन मुझसे पूछने लगे क्या तुमने कॉलेज में अपनी कोई गर्लफ्रेंड बनाई या नहीं, मैंने उन्हें कहा नहीं मैंने अभी तक कोई भी गर्लफ्रेंड नहीं बनाई। हमारे कॉलेज में बहुत से बच्चे आते हैं लेकिन मुझे कोई भी पसंद नहीं आई। मेरे पिताजी और मैं बहुत ही खुल कर बात करते हैं और उनके साथ बात करना मुझे बहुत अच्छा लगता है।

हमारे कॉलेज में कुछ नए टीचर भी आए, जिनमें से एक मैडम मुझे बहुत ही अच्छी लगी, उनका नाम पूनम है। मुझे नहीं पता था कि वह भी हमारे कॉलोनी में ही रहती हैं लेकिन मैंने एक दिन उन्हें देखा कि वह मेरी कॉलोनी में ही रहती हैं तो मैंने उस दिन उनसे बात की। वह किसी और सब्जेक्ट की टीचर है। मैंने जब उनसे पूछा कि क्या आप भी इस कॉलोनी में रहती है, वह कहने लगी हां मैं भी इसी कॉलोनी में ही रहती हूं। हम लोगों ने अभी कुछ समय पहले ही यहां पर फ्लैट लिया है। मेरी उनसे एक दो बार मुलाकात हुई थी इसलिए उन्हें यह पता था कि मैं भी उनके ही कॉलेज में हूं। मैंने पूनम मैडम से कहा कि जब आप सुबह कॉलेज जाती हैं तो आप मेरे साथ ही कॉलेज चल लिया कीजिए क्योंकि मैं भी अपनी कार से ही कॉलेज जाता हूं। वह कहने लगी ठीक है कल जब तुम जाओ तो मुझे फोन कर देना मैं तुम्हारे साथ ही कॉलेज चलूंगी। मैंने उस वक्त मैडम का नंबर ले लिया। अगले दिन मैं पूनम मैडम को लेने के लिए उनके घर के बाहर चला गया और मैंने उन्हें फोन किया कि मैं तैयार हो चुका हूं और आपके घर के बाहर खड़ा हूं। वह कहने लगी मुझे तुम कुछ समय दो मैं आ रही हूं। मैं अब उनके घर के बाहर ही खड़ा था, वह कुछ देर बाद आ गई। वह आई तो मुझे कहने लगी मुझे थोड़ा लेट हो गई क्योंकि कल मैं कुछ काम कर रही थी इसलिए मुझे उठने में थोड़ा समय लग गया, उसके लिए मैं तुमसे माफी मांगती हूं। मैंने उन्हें कहा कि आप इस प्रकार की बातें मत कीजिए। अब वह और मैं कॉलेज जा रहे थे। वह मुझसे पूछने लगे की तुम्हारे पिताजी क्या करते हैं। मैंने उन्हें बताया कि मेरे पिताजी का प्रॉपर्टी का काम है और वह काफी समय से प्रॉपर्टी का काम कर रहे हैं। जब उन्होंने मुझसे मेरे पिताजी का नाम पूछा तो वह कहने लगी कि मुझे भी उन्होंने ही प्रॉपर्टी दिलवाई है, मैं उन्हें बहुत अच्छे से जानती हूं। मैंने उन्हें कहा यह तो बहुत अच्छी बात है यदि आप मेरे पिताजी को जानती हैं तो। मैंने पूनम मैडम से पूछा कि आपके घर में कौन-कौन रहता है, वह कहने लगी कि मेरे घर में सिर्फ मैं ही हूं और मेरे साथ मेरे मम्मी पापा रहते हैं।

मैंने उनसे पूछा कि क्या आप की अभी तक शादी नहीं हुई, वह कहने लगी कि नहीं मैंने अभी तक शादी नहीं की। मैंने उनसे कहा कि यदि मैं आपसे आपकी उम्र पूछूं तो आपको बुरा तो नहीं लगेगा, वह कहने लगी नहीं इसमें बुरा मानने वाली क्या बात है। उन्होंने मुझे बताया कि उनकी उम्र 32 वर्ष है। मैंने उनसे पूछा कि क्या आपने कभी भी शादी के बारे में नहीं सोचा, वह कहने लगी कि मेरे दिमाग में कभी भी शादी को लेकर विचार ही नहीं आए क्योंकि मैं अपनी पढ़ाई में ही लगी हुई थी और मैंने कभी भी शादी के बारे में नहीं सोचा यदि कभी मुझे ऐसा लगेगा कि मुझे शादी करनी चाहिए तो मैं जरूर इस बारे में सोचूंगी। हम दोनों आपस में बात कर रहे थे और हमारा कॉलेज आ गया। जब हमारा कॉलेज आया तो मैडम कार से उतरते हुए मुझे थैंक्यू कहने लगी और फिर वह अपनी क्लास रूम में चली गई। मैं भी अपने क्लास रूम में चला गया और कुछ देर बाद ही हमारी क्लास शुरु हो गई थी। उस दिन जब मेरी क्लास खत्म हुई तो मैंने पूनम मैडम को फोन कर दिया और उन्हें कहा कि क्या आपकी क्लास खत्म हो चुकी है, पूनम मैडम मुझे कहने लगी कि मुझे आधे घंटे का काम है यदि तुम आधे घंटे तक रुक सकते हो तो उसके बाद हम लोग साथ में घर चल लेंगे। मैंने उन्हें कहा ठीक है मैं आपका आधे घंटे तक इंतजार कर लेता हूं। मैं उनके इंतजार कॉलेज की कैंटीन में ही कर रहा था तो उसी वक्त मेरे दोस्त मुझे मिल गए और हम लोग कैंटीन में बैठकर काफी बातें कर रहे थे।

उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या तुम अभी तक घर नहीं गए, मैंने कहा नहीं अभी मैं घर नहीं गया। अब हम लोग बात कर रहे थे उसी बीच में पूनम मैडम का फोन आ गया और जब उनका फोन आया तो मैंने अपने दोस्तों से कहा कि मैं चलता हूं, कल तुमसे मुलाकात करूंगा। अब मैं पूनम मैडम को लेने के लिए चला गया। हम दोनों साथ में ही घर आ थे और जब उनका घर आ गया तो वह मुझे कहने लगे तुम कुछ देर हमारे घर पर ही रुक कर जाना, मैंने उन्हें कहा मैं फिर कभी आऊंगा लेकिन वह मुझसे जिद करने लगी और मुझे उनके घर जाना पड़ा। जब मैं घर में गया तो मुझे उनके माता पिता मिले, जिनकी उम्र काफी ज्यादा थी। वह कमरे में बैठे हुए थे, मैंने उनसे बात की और उसके बाद हम लोग आकर बैठ गए। पूनम मैडम और मैं साथ में ही बैठ कर बात कर रहे थे। वह मुझसे मेरी पढ़ाई के बारे में पूछने लगी। मैंने उन्हें कहा कि मेरी पढ़ाई तो अच्छे से चल रही है, अभी यह मेरा पहला ही वर्ष है। वह मुझसे मेरे घर के बारे में पूछने लगी और कहने लगी तुम्हारे घर पर कौन-कौन है। मैंने उन्हें सब कुछ जानकारी दी और उसके बाद मैंने उनके माता-पिता के बारे में भी पूछा। वह कहने लगी कि मेरे पिताजी भी कॉलेज में प्रोफेसर थे परंतु वह काफी समय पहले ही रिटायर हो चुके हैं क्योंकि उनकी उम्र हो चुकी है इसलिए वह घर पर ही रहते हैं और ज्यादा बाहर नहीं जाते। मैंने उनसे पूछा कि क्या आपका कोई भाई नहीं है, वह कहने लगी नहीं मेरा कोई भाई नहीं है और ना ही कोई बहन है, मैं घर में इकलौती हूं। मैं पूनम मैडम के साथ ही बैठा हुआ था और वह भी मेरे बगल में ही बैठी हुई थी लेकिन जब मैं उनके स्तनों को देख रहा था तो मुझे बड़ा अच्छा महसूस होने लगा। वह कहने लगी कि मैं कुछ देर में आती हूं वह अपने कमरे में चली गई और अपने कपड़े चेंज करने लगी।

जब उन्होंने अपने कमरे का दरवाजा खोला तो कहने लगी तुम अंदर ही आ जाओ। हम दोनो अंदर ही उनके कमरे में बैठे हुए थे उन्होंने एक छोटी निक्कर पहनी हुई थी उसमे उनकी मोटे मोटे जांघ दिखाई दे रही थी। वह मेरे पास ही बैठी हुई थी मैंने जैसे ही अपने हाथ से उनकी जांघों को सहलाना शुरु किया तो उन्हें मजा आने लगा और वह मुझे कुछ भी नहीं कह रही थी। मैंने धीरे-धीरे उनके निक्कर के अंदर से हाथ डालते हुए उनकी योनि के अंदर अपनी उंगली डाल दी उनकी चूत पूरी गिली हो चुकी थी। उन्होंने अपने लंड को बाहर निकालते हुए अपने मुंह में ले लिया और उसे चूसने लगी। उन्होंने मेरे लंड को चूसा तो मुझे मजा आने लगा और काफी देर तक वह मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर चुसती रही। वह पूरे मूड में थी और मैंने जैसे ही उन्हें नंगा किया तो उनके बड़े बड़े स्तनों को मैंने अपने मुंह में ले लिया और अच्छे से चूसने लगा। काफी देर ऐसा करने के बाद मैंने उनकी योनि पर जैसे ही अपनी जीभ को लगाया तो मुझे बहुत अच्छा महसूस होने लगा। उनकी चूत से पानी निकलने लगा था मैं उसे अच्छे से चाटने लगा। जब मैंने उनके पैरों को चौड़ा किया तो उनकी योनि के अंदर मैंने जैसे ही अपने लंड को डाला तो वह चिल्लाने लगी। उन्हें बहुत अच्छा लगता जैसे ही मेरा लंड उनकी योनि के अंदर बाहर होता मुझे भी बड़ा अच्छा लग रहा था। वह अपने मुंह से सिसकिया ले रही थी और मैं भी बहुत खुश था। मैंने उन्हें इतनी तेज झटके मारे की उनका पूरा शरीर हिलने लगा मैं उनके स्तनों को अपने मुंह में ले रहा था। उनकी चूत से कुछ ज्यादा ही पानी बाहर निकलने लगा मैंने उन्हें बड़ी तेजी स चोदा जिससे की उनकी चूतडे लाल हो गई थी। उन्होंने भी अपने दोनों पैरों के बीच में मुझे जकड़ लिया अब वह झड़ चुकी थी उनकी योनि पूरी टाइट हो गई। मैंने भी बड़ी तेजी से धक्के मारते हुए अपने मल को उनकी योनि में गिरा दिया और उनके ऊपर ही लेटा रहा।