ताऊ जी की बेटी को पटाकर चोदा

desi chudai ki kahani हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम आर्यन है और में इलाहाबाद का रहने वाला हूँ। में MBA कर रहा हूँ और मेरी उम्र 19 साल है। मेरी यह पहली स्टोरी है। अब में आपका समय ज्यादा ख़राब ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ। मेरे घर एक सामूहिक परिवार है, मेरे घर में मेरे ताऊ जी की 3 बेटियां है, जो बहुत ही सेक्सी है, जिनमें से एक का नाम सोम्या है, जो बहुत ही सेक्सी है, उसके बूब्स बहुत ही अच्छे है, उसकी उम्र अभी 20 साल है, जब में उसके बूब्स को देखता था तो मेरा लंड खड़ा हो जाता था और में रात में उसे अपने ख्यालों में चोदता था। फिर एक दिन वो बाथरूम में नहाने गयी। अब मैंने बाथरूम के दरवाज़े में एक छेद कर दिया था और फिर में बाथरूम में देखने लगा तो उसने पहले तो अपने चेहरे पर साबुन लगाया और फिर उसके बाद अपनी शर्ट उतारी, वो काली ब्रा में दिख रही थी, हाए क्या बूब्स यानि चूचीयाँ थी उसकी? अब में उसको देखकर पागल सा हो गया था।
फिर उसने अपनी पेंट उतारी, वो एक काली पेंटी पहने हुई थी। फिर उसने नहाना शुरू किया। फिर थोड़ी देर के बाद उसने अपनी पेंटी और ब्रा भी उतार दी। अब में आउट ऑफ कंट्रोल हो गया था और वहीं पर मुठ मारने लगा था। अब वो अपनी चूत और चूचीयों पर साबुन लगा रही थी। अब में उस दिन से मौके की तलाश में था कि में कैसे अपनी दीदी को चोदूं? फिर एक दिन में रात में लेटा हुआ था कि दीदी बोली कि और आर्यन कैसे हो? मुझे नींद नहीं आ रही है, क्या में तुम्हारे साथ कुछ बातें कर सकती हूँ? अब में भी मौके की तलाश में था। फिर दीदी और में बातें करने लगे। अब इस बीच बातें करते 1 बज गये थे और दीदी को नींद आने लगी थी और फिर दीदी मेरे पास ही सो गयी। दीदी ने नाइटी पहन रखी थी। फिर थोड़ी देर के बाद मैंने दीदी की नाइटी को ऊपर उठाना शुरू किया और धीरे-धीरे दीदी की पेंटी के पास पहुँच गया।

फिर मैंने उसकी पेंटी में अपना एक हाथ डाला और उसकी चूत को सहलाने लगा तो वो थोड़ी सी कसमसाई। फिर मैंने उसकी चूत में अपनी एक उंगली डाल दी और धीरे धीरे दबाने लगा। फिर थोड़ी देर के बाद दीदी की चूत में से पानी जैसा कुछ निकलने लगा, इसका मतलब दीदी जाग रही थी। फिर थोड़ी के बाद दीदी उठी और बोली कि ये क्या कर रहो हो? आर्यन तुम अपनी दीदी के साथ ही ऐसा कर रहे हो। तब में थोड़ा सा घबरा गया और फिर में दीदी से बोला कि मुझे तुम्हारी चूचीयाँ बहुत अच्छी लगती है, प्लीज मुझे दिखाओ ना। तब दीदी बोली कि नहीं ये सब दीदी के साथ नहीं किया जाता है। फिर मेरे काफ़ी ज़िद करने के बाद वो मान गयी और बोली कि अच्छा ठीक है, लेकिन दूर से ही। तब मैंने कहा कि लेकिन दीदी आपके कपड़े में उतारूंगा। तब उन्होंने कहा कि ठीक है।
फिर मैंने दीदी के पीछे से उनकी नाइटी को खोला और उसे उतार दिया। फिर दीदी की ब्रा सामने आई और वो मुस्कुराने लगी। फिर मैंने उनकी पूरी नाइटी को उतार दिया। अब वो केवल ब्रा और पेंटी में मेरे सामने थी। में पहली बार किसी लड़की को इस तरह से देख रहा था। फिर मैंने उनकी ब्रा और पेंटी को भी उतार दिया। अब वो मेरे सामने नंगी खड़ी हुई थी। फिर उसके बाद मैंने दीदी से कहा कि में आपको चूचीयों को छूना चाहता हूँ। तो वो बोली कि नहीं बस बहुत हो गया और फिर वो अपने कपड़े उठाने लगी तो तब मैंने उनका हाथ पकड़ लिया और कहा कि प्लीज, तो तब दीदी एक बार तो मान गयी। फिर में उनकी चूचीयों को सहलाने लगा और वो सिसकियाँ भरने लगी थी। फिर में धीरे-धीरे अपना एक हाथ उनकी चूत पर ले गया और उसे सहलाने लगा तो तब वो बोली कि नहीं आर्यन ये ठीक नहीं है। तब मैंने कहा कि सब ठीक है दीदी और फिर मैंने उनकी चूत में अपनी एक उंगली डाल दी। तो वो थोड़ी सी चिल्लाई आह, आह, आह, अब में समझ गया था कि दीदी अब मेरा साथ दे सकती है।

फिर उसके बाद में उन्हें बिस्तर पर ले गया और उन्हें किस करने लगा था। अब वो भी मेरा साथ देने लगी थी। फिर मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए, तो मेरा 6 इंच लम्बा लंड देखकर दीदी घबरा गयी और बोली कि इतना बड़ा। तब में बोला कि आपके बारे में सोच-सोचकर बहुत बार मुठ मारी है इसलिए बड़ा हो गया है। फिर मैंने अपना लंड दीदी की चूत पर रख दिया और धीरे-धीरे सहलाने लगा। दीदी की चूत बड़ी ही टाईट थी। फिर में अपना लंड दीदी की चूत में डालने लगा तो तब दीदी चिल्लाने लगी कि नहीं आर्यन प्लीज निकाल लो, बहुत दर्द कर रहा है। अब दीदी की चूत में मेरा आधा लंड ही गया था और वो चीख रही थी हाईईईईई माँ, में मर जाऊंगी। फिर मैंने एक जोर का झटका मारा तो मेरा पूरा लंड उनकी चूत में चला गया और दीदी चीख पड़ी और अब उनकी चूत में से खून निकलने लगा था। अब वो रोने लगी थी और बोली कि तुमने मेरी चूत को फाड़ दिया है। तब मैंने कहा कि नहीं दीदी, अब आपको दर्द नहीं होगा और फिर में धीरे-धीरे दबाने लगा। अब उनको भी बहुत मज़ा आने लगा था और फिर मैंने देखा कि अब वो अपने चूतड़ उठा-उठाकर मेरा साथ देने लगी थी। फिर मैंने उस रात दीदी को कई बार चोदा और अब हमें जब भी कोई मौका मिलता है, तो हम आपस में सेक्स करते है और खूब मजा करते है ।।
धन्यवाद