शानो मेरा पहला प्यार

romance हैल्लो दोस्तों, यह बहुत साल पुरानी बात है, में अंधेरी मुंबई में रहता था, में 20 साल का था। यह स्टोरी मेरी और मेरी पड़ोसी के बीच की है। उसका नाम शालिनी था, लेकिन प्यार से उसे उसके घरवाले शानू कहते थे, वो केवल 18 साल की थी। में उसकी तरफ पहले दिन से आकर्षित हुआ था, मुझे कैसे भी करके उसे हासिल करना था? शानू बहुत ही गोरी, स्लिम और सुंदर लड़की थी और बहुत ही शर्मीली थी। जब भी हमारी नजरे मिलती थी, तो वो मुझे बहुत ही स्वीट स्माइल देती थी। अब मुझे धीरे-धीरे यह एहसास होने लगा था कि वो भी मुझे चाहने लगी है। हमारी फेमिली में अच्छे रिलेशन थे इसलिए वो हमारे घर रोज आया करती थी। वो माथुर फेमिली से थी और में महाराष्ट्रियन फेमिली से था, लेकिन फिर भी हमारे परिवार में अच्छे रिश्ते थे। अब वो गर्मी की छुट्टियाँ बिताने अपने बड़े भाई असीम के साथ दिल्ली अपने मामा के घर जाने वाली थी, तो मेरी मम्मी ने शानू और उसके भाई को लंच पर बुलाया।
फिर लंच से पहले हमने बहुत से इनडोर गेम्स खेले, चैस खेली। अब मेरी नजर शानू पर ही थी, अब उसे भी इस बात का पता चला गया था और वो और भी शरमाने लगी थी, उसने ब्लू कलर की स्लीवलेस स्कर्ट पहनी थी और वो उसमें और भी ब्यूटिफुल लग रही थी। मैंने शॉर्ट्स और टी-शर्ट पहनी थी, में थोड़ा मोटा था, लेकिन उसे फिर भी में बहुत पसंद था। अब वो मेरी तरफ देखकर बहुत ही मुस्कुरा रही थी। अब उसे देखकर मेरी शॉर्ट के अंदर मेरा लंड टावर जैसा खड़ा हो गया था। अब में अपने आप पर कंट्रोल नहीं कर पा रहा था। फिर लंच के बाद मैंने उसे अपने कॉमिक्स स्टोरी बुक्स पढ़ने के लिए दिए, तो उसके भाई असीम को नींद आने लगी और वो अपने घर चला गया।

फिर मेरी मम्मी बेडरूम में आराम करने चली गयी। अब में और शानू डाइनिंग हॉल में अकेले थे, अब में उसके करीब सोफा सेट पर बैठा था। अब में उसे भूखी आँखों से देख रहा था, तो उसने अचानक से मुझे कहानी के बारे में कुछ सवाल पूछा। तो में उसके सवाल का जवाब देने के लिए उसके पास गया और उसके राईट गाल पर किस किया तो मुझे किस करने पर ऐसा लगा कि में जन्नत में हूँ। फिर उसने अपनी आँखे बंद की तो मैंने उसे फिर से चूमा, अब मेरे होश उड़ रहे थे। फिर मैंने उसे अपनी बाँहों में लिया और उसे सोफे पर लेटाया। अब वो भी बहुत उत्तेजित थी, अब यह हम दोनों के लिए फर्स्ट टाईम था। फिर उसने बहुत प्यार से मेरे बालों को अपने हाथों से संवारा और किस ली। फिर उसके बाद हम दोनों पर ऐसा जुनून छा गया कि मेरे पास बताने के लिए शब्द ही नहीं है। फिर में उसके ऊपर लेटा और उसे कुत्ते की तरह चाटने लगा। फिर उसने मेरी शॉर्ट्स के अंदर अपना एक हाथ डाला और मेरे लंड को अपने सॉफ्ट हाथों में लिया और उसके साथ खेलने लगी।
फिर मैंने अपनी शॉर्ट उतार दी और मेरा लंड उसके मुँह में डाल दिया तो वो उसे सक करने लगी। फिर मैंने उसके मुँह में ही अपना सारा पानी निकाल दिया, जिसे वो पी गयी। अब उसे और भी नशा चढ़ गया था। फिर मैंने धीरे से उसकी स्कर्ट को निकाल दिया और उसकी ब्रा भी उतार दी और उसके बूब्स को चूसने लगा। अब वो बहुत ही उत्तेजित हो रही थी और सिसकियाँ ले रही थी ओह अजय यू आर माई डार्लिंग, आई लव यू वेरी मच, यू आर सो हैंडसम। अब में उसके बदन के हर हिस्से पर किस कर रहा था। फिर में उसकी चूत की तरफ आया और उसे कसकर किस किया। अब में उसकी चूत को पागलों की तरह चाट रहा था। अब वो अपने संतुष्टि के करीब आ रही थी।
फिर मैंने अपनी एक उंगली उसकी चूत के छेद में डाली तो वो एकदम से झड़ गयी। फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत के अंदर डाला, उसकी चूत बहुत ही टाईट थी क्योंकि वर्जिन थी। अब वो बहुत शौर करने लगी थी, अब उसे बहुत दर्द हो रहा था। फिर मैंने उसे शांत किया और रिलेक्स होने दिया। फिर मैंने थोड़ी देर के बाद धीरे से अपने लंड को उसकी चूत में अंदर डाला और धीरे-धीरे अपने लंड को अंदर बाहर करने लगा तो थोड़ी देर के बाद उसकी चूत फिर से अपना पानी छोड़ने लगी। अब वो जोर- जोर से सिसकियाँ ले रही थी और मुझे किस कर रही थी। अब में भी झड़ने के करीब आ गया था, अब में भी सिसकियाँ ले रहा था शानू तुम बहुत सुंदर लड़की हो, में तुम्हारे लिए कुछ भी करूँगा। फिर करीब 1 घंटे तक हम दोनों एक दूसरे की बाँहों में ही पड़े रहे और फिर उसकी मम्मी ने जब उसे आवाज़ दी, तो वो जल्दी से अपने कपड़े पहनकर निकल पड़ी। यह था मेरा पहला नशा, पहला खुमार, पहला जवान प्यार मेरी खूबसुरत पड़ोसी गर्ल के साथ। में आज भी उससे इतना ही प्यार करता हूँ जितना पहले करता था ।।
धन्यवाद

error: