जिम्मेदारी (कुछ नयी कुछ पुरानी) -37

Sex stories in hindi अध्याय 37 निधि आज अजय के कमरे में नही गयी,उसे जाने क्यो कुछ डर सा लग रहा था,डर किससे अपने ही भाई से,क्यो जिसे वो इतना प्यार करती है जो उसे इतना प्यार करता है उससे क्या डर था निधि को, लेकिन उसका दिल आज अजय के नाम से ही जोरो से … Continue..

जिम्मेदारी (कुछ नयी कुछ पुरानी) -36

chodan अध्याय 36 किशन अपनी प्रेमिका के गले में हाथ डाले अपनी ही दुनिया में मगन अपने कमरे में बैठा था ,सुमन और किशन दोनो के बीच का प्यार अपने परवाने चढ़ने लगा था ,दोनो एक दूजे के हमेशा पास रहना चाहते थे ,किशन उसके गालो को चूमता है , “क्यो अब तो तुम ये नही … Continue..

जिम्मेदारी (कुछ नयी कुछ पुरानी) -35

sex stories in hindi अध्याय 35 घर मे ख़ुशियाँ छाई थी,लेकिन सबसे खुश थे किशन और सुमन,वो प्रेम के पंछी अपनी ही दुनिया मे खोये थे,जहा एक ओर सुमन को उसका पूरा परिवार मिल गया था वही किशन अपने पहले प्यार के खुमार में डूबा हुआ था,मगर चम्पा की खुशियो को मानो ग्रहण लग गया हो … Continue..

जिम्मेदारी (कुछ नयी कुछ पुरानी) -34

antarvasna अध्याय 34 दो दिन बिता और रिस्तो ने नई करवट ले ली,वो दिन भी आया जब सबको वापस जाना था,डॉ भी सुमन और उसकी माँ के साथ वहां पहुच चुका था ,सभी गांव की ओर चल पड़े,सुमन को देखकर किशन की बांछे खिल उठी और दोनों ने नैनो की भाषा मे एक दूजे को प्यार … Continue..

जिम्मेदारी (कुछ नयी कुछ पुरानी) -33

hindi porn stories अध्याय 33 सोनल और विजय के बीच जो भी हुआ इससे दोनो ही बहुत कशमकश में थे,विजय तो वहां से चला गया पर वो उस हसीन से हादसे को भूल नही पा रहा था,यही हाल कुछ कुछ सोनल का भी था , इधर रानी और किशन भी अपने दुनिया में मस्त थे ,दोनो … Continue..

अन्तर्वासना स्टोरीज प्रस्तुत करते हैं प्रीती और नंदिनी: मेरा ठरकी मकानमालिक प्रेम अध्याय 6

अन्तर्वासना स्टोरीज प्रीती नंदिनी मेरा ठरकी मकानमालिक प्रेम अध्याय 6

भारतीय सेक्स कॉमिक्स प्रीती और नंदिनी पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

जिम्मेदारी (कुछ नयी कुछ पुरानी) -32

desi chudai ki kahani अध्याय 32 इधर शहर में विजय किशन ,रानी,सोनल ,खुशबु,नितिन,और राकेश सभी एक बार कम पब में बैठे हुए थे अब नितिन और विजय की कुछ कुछ बनने लगी थी जिसे देखकर उनकी दोनों बहने बहुत खुस दिख रही थी ,विजय को नितिन में अजय की छबि दिखाई दे रही थी ,होती भी … Continue..

जिम्मेदारी (कुछ नयी कुछ पुरानी) -31

chodan अध्याय 31 बारिस बढ़ने लगी थी और जगल का माहोल और भी शांत हो रहा था ,निधि और अजय अपने खयालो की दुनिया से बाहर आये और झोपड़ी के तरफ भागे ,आज इनके बीच कुछ ऐसा हो चूका था की दोनों ही बड़े गुमसुम से थे ,पर कब तक दोनों के बीच का प्यार तो … Continue..

जिम्मेदारी (कुछ नयी कुछ पुरानी) -30

desi sex stories अध्याय 30 इधर अजय और निधि गाव से निकल चुके थे कोई उन्हें ना पहचान ले इसलिए वो स्कार्फ बांधे हुए थी वही अजय ने हेलमेट लगा रखा था ,दोनों पहाड़ी के निकट पहुच गए,पहले गाड़ी एक जगह लगाकर वो ऊपर चले गए क्योकि शाम होने ही वाली थी इसलिए पहले अजय ने … Continue..

जिम्मेदारी (कुछ नयी कुछ पुरानी) -29

kamukta अध्याय 29 कुछ देर और दो काफी से दोनों नार्मल हो चुके थे सभी बैठ कर काफी पि रहे थे ,विजय और नितिन बाते तो नहीं कर रहे थे पर अब सामान्य व्यवहार कर रहे थे की ,एक लड़का उनके पास दौड़ता आया ,नितिन भाई आपको और (विजय की ओर देखते हुए )इसको प्रिन्सिपल मेडम … Continue..

जिम्मेदारी (कुछ नयी कुछ पुरानी) -28

antarvasna kahani अध्याय 28 इधर शहर में ……….. सोनल ,रानी ,किशन और विजय कॉलेज के लिए निकल जाते है ,किशन ने जहा एक ब्लू टी-शर्ट पहना था वही विजय ने ब्लैक वही किशन जहा ब्लैक जींस में था वही विजय डेनिम ब्लू जींस में ,,,,,कातिल और क्लासिक कॉम्बिनेशन लेकिन विजय के सामने किशन फीका ही दिख … Continue..

जिम्मेदारी (कुछ नयी कुछ पुरानी) -27

kamukta अध्याय 27 अजय घर पंहुचा सभी कलवा के आने से बहुत खुश दिख रहे थे ,खासकर सीता मौसी … सीता मौसी और चंपा आज एक साथ ही बैठे थे पास ही कलवा भी बैठा था,वही निधि भी कान में हैडफ़ोन डाले चंपा के गोद में सोयी थी ,अजय और बाली ने जब ये सब देखा … Continue..

जिम्मेदारी (कुछ नयी कुछ पुरानी) -26

indian porn stories अध्याय 26 इधर घर में अजय के पास फोन आता है जिसे सुनकर उसका चहरा ख़ुशी से खिल जाता है ,बाली उसके चहरे के भाव देखकर “क्या हुआ अजय खुश लग रहे हो ” “हा चाचा कलवा चाचा इस घटना के बारे में जानकर वापस आ गए है ,” बाली भी ख़ुशी से … Continue..

जिम्मेदारी (कुछ नयी कुछ पुरानी) -25

desi kahani अध्याय 25 आज सोनल और रानी के जाने का दिन था ,सभी बहुत उदास थे, रेणुका अभी भी ससुराल से नहीं आई थी,छुट्टियों इतनी जल्दी खत्म हो जाती है किसी को भी पता नहीं चलता ,दोनों ही तैयार होकर निचे आते है इसबार किशन और विजय उन्हें छोड़ने शहर जाते है साथ में सुमन … Continue..