ऑनलाइन लड़की पटा कर चोदा

हेलो दोस्तों | मेरा नाम राज तिवारी है | मैं उत्तर बिहार में पटना का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 21 साल है | मैं अभी बैंकिंग एक्साम्स की तैयारी कर रहा हूँ | मैं बहुत ही कमीना किस्म का लड़का हूँ | अब आप सोच ही लीजिये कि जब मैं खुद को कमीना बोल रहा हूँ | तो कितना कमीना होऊंगा | चलिए वो सब छोड़िये अब अपने बारे में भी बता दूँ | मैंने अभी तक बहुत लड़कियों को पटा कर चोदा है | मेरे पापा का मैं इकलौता बेटा हूँ इसी लिए जब भी घर से पैसे की जरूरत पड़ती है | मुझे तुरंत मिल जाते है | यहाँ तक मेरे पास खुद की कार है | और मैं इसे भी हर साल बेच कर नयी खरीद लेता हूँ | मुझे नई गाड़ियाँ खरीदना और उसमे लड़कियों को घूमाना बहुत अच्छा लगता है | वैसे भी मैं हमेशा अपनी फोटो गाड़ी के साथ में ही इंटरनेट पर डालता हूँ | शायद ये भी एक वजह है जिसके कारण लड़कियां मुझसे बहुत जल्दी पट जाती हैं | वैसे भी आप लोग तो जानते है | कि लड़कियों को तो महंगी गाड़ियों में घूमने का कितना शौक होता है | और मैं उनके इसी शौक का फायदा उठाता हूँ | पहले दोस्त बनाता हूँ | फिर पटा लेता हूँ | उसके बाद कहीं अच्छी से होटल में या कही और कमरे का इंतजाम कर के चोद देता हूँ | अरे आप लोगों को क्या बताऊँ मैंने तो कई लड़कियों को तो अपनी कार में ही चोद दिया | अगर अचानक से मूड बन जाता है तो बस कार मोदी और किसी सुनसान जगह पर ले जाकर खड़ी कर दी फिर उसी के अंदर ही चुदाई का खेल शुरू हो जाता है | मेरा लंड 7 इंच लम्बा और मोटा सा है | इसी लिए कैसी भी चूत हो मेरी चुदाई से उसका फटना पक्का है | मेरे साथ की सभी लडकियों में से ज्यादातर लड़कियां मेरे लंड का मज़ा ले चुकी है | एक और खास बात है मेरे अन्दर | मै लड़कियों की चुदाई के बाद उनसे कोई मतलब नही रखता हूँ | क्योकि लडकियों की एक खास बात होती है | कि वो एक बार किसी का लंड अपनी चूत में ले लें तो बार बार उसी लंड को लेने की इच्छा रखती है | लेकिन मैं किसी भी लड़की को एक बार चोदने के बाद दोबारा उसको चोदना तो दूर मुड़ कर देखता भी नही हूँ |

अब मैं सीधे अपनी कहानी पे आता हूँ | ये कहानी मेरी जिन्दगी की एक सच्ची घटना है | ये बात पिछले गर्मी की छुट्टियों की है | मेरी क्लास ख़त्म हो चुकी थी | अब मैं या तो घर पर रहता या दोस्तों के साथ अपनी कार में घूमा करता था | कुल मिला कर ये कहिये कि मेरे पास टाइम की कोई कमी नही थी हमेशा फ्री रहता था | इसी लिए मैं सोसल नेटवर्किंग साइट्स पर ज्यादा एक्टिव रहने लगा था | इसी बीच मैंने इन्टरनेट पर एक लड़की की फोटो देखी | उसका नाम स्वाति था | अपनी फोटो में वो बहुत ही हॉट दिख रही थी | उसका फिगर किसी अप्सरा से कम नही था | उसने अपनी फोटो में जींस और टॉप पहन रखा था | जिसमे उसका फिगर और भी उभर कर नज़र आ रहा था | मैं तो उसकी फोटो देखते ही उसका कायल हो गया था | वो पास के ही शहर से थी | मैंने उसे फ्रंड रिक्वेस्ट भेज दिया | एक दिन के बाद उसने एक्सेप्ट कर लिया | फिर तो मुझे सिगनल मिल चुका था | मैं उसे मैसेज करने लगा | वो भी मुझ से बात करने लगी | अब हम घंटो तक ऑनलाइन चैट करते थे | धीरे धीरे हम एक दूसरे के और करीब आ गए | और बहुत ही जल्द मैंने उसे पटा लिया | अब क्या था उसने अपना फ़ोन नम्बर भी मुझे दे दिया मैं उससे फ़ोन पर भी बातें करने लगा | अब हमारी बातें सामान्य तरीके से नही होती थी | सीधे शब्दों में कहूँ तो मैंने उसके साथ फ़ोन सेक्स करने लगा था | वो मुझसे बातें करते करते अपनी चूत में उंगली करती थी | और अपनी आह्ह्हह्ह… ह्म्म्म.. ओह्ह्ह.. की मादक आवाज से मुझे भी अपना लंड पकड़ने पर मजबूर कर देती थी | फिर मैं भी अपना लंड पकड़ कर उसकी आवाज से ही हिला लेता था |

एक बार मैंने उससे मिलने का प्लान बनाया | मैंने उसे फोन किया और बोला स्वाति मुझे तुमसे मिलना है | मैं तुम्हे एक बार अपनी आँखों से देखना चाहता हूँ | पहले तो उसने मन कर दिया | लेकिन फिर जब मै गुस्सा होने का नाटक करने लगा तो वो मान गई और बोली मैं कुछ बहाना बना कर घर से आ जाउंगी | तुम मुझे मिल जाना | मैंने हामी भर दी | अगले दिन मैं सुबह जल्दी से तैयार हुआ | और अपनी गाड़ी निकाली और चल दिया | वही पहुँच गया जहाँ उसने आने को कहा था | तभी वो आ गई और आकर मेरी गाड़ी में बैठ गई | मैंने जल्दी से गाड़ी आगे निकाली और कुछ दूर जा कर गाड़ी रोक दी | और उसे अपनी बांहों में भर लिया | वो भी मुझसे मिलने के लिए बेक़रार थी | कुछ देर बाद मैंने फिर गाड़ी स्टार्ट की और एक होटल में पहुंचे | हमने साथ में खाना खाया | वो बस मुझे प्यार से देखे जा रही थी | मैंने पहले से ही उस होटल में एक कमरे की व्यवस्था कर रखी थी | मैं उसे कमरे में ले गया | और दरवाजा बंद करते ही उस पर टूट पड़ा | मैंने स्वाति आई लव यू..| उसने उत्तर दिया लव यू टू ..| मैंने इतना सुनते ही उसके लिप्स पर अपने लिप्स रख दिए | और तेज़ी से स्मूच करने लगा | वो भी मेरा साथ दे रही थी | अब वो गर्म होने लगी थी | मैं उसके पूरे शरीर पर हाथ फेर रहा था | तभी मेरा हांथ उसके बूब्स पर पहुँच गया | मै उसके बूब्स को जोर जोर से दबाने लगा | वो मोअन करने लगी | आह्ह्ह्ह… आह्हह…. राज़ मत करो दर्द हो रहा है … | मैंने कहा अरे मेरी जान आज तो मैं तुम्हे जन्नत की सैर करूँगा | अब  मैंने उसका स्कर्ट निकल कर फेंक दिया | और जोर जोर से उसके बूब्स को दोनों हाँथो से दबा कर पीने लगा | वो अब और भी जोर से चिल्ला रही थी | अब वो भी मस्त से मज़े ले रही थी | फिर मैंने उसकी जींस भी निकल दी | और उसे सिर्फ ब्रा और पैंटी में कर दिया | मैंने उसे बेड पर लिटा दिया | और अपना मुंह उसकी चूत पर ले गया | उसकी चूत की गंध मुझे पागल बना रही थी और मैं इसे बस खाना चाहता था | फिर | मैंने धीरे से स्वाति की चूत को किस की वो पागल हो उठी | उसने मेरा मुंह अपनी चूत में दबा दिया | और साथ में एकदम जोर जोर से मोअन भी कर रही थी | मैंने अपनी जबान को स्वाति की चूत में डाल दी और उसे चाटने लगा | उसके मुहं से निकलती हुई आवाजें और भी तेज हो गई | थोड़ी ही देर में उसने पानी छोड दिया | मै उसका सारा रस पी गया | मैं खड़ा हुआ मेरा लंड एकदम कड़क हो गया था |

और फिर स्वाति ने अपने मुहं में लंड को ले लिया और उसे चूसने लगी | वो मेरे लंड को अपने मुहं में चला रही थी और उनकी जबान मेरे लंड को और बॉल्स को हिला रही थी | वो अपने एक हाथ से अपनी चूत की फांको को और दाने को हिला रही थी | मैंने कहा स्वाति मेरी जान तुम तो बड़े अच्छे से लंड चूस रही हो | और तेज़ चूसो | वो बोली कितने दिनों से मैं एस लंड के लिए तैयार बैठी थी | आज तो एकदम लंड चूसने का मज़ा ही आ गया था | वो जोर जोर से मेरे लंड को अपने मुहँ में अन्दर बाहर कर रही थी | 10 मिनिट तक वो मजे से लंड को चूस रही थी | मेरे लंड में और बॉल्स के अन्दर एकदम से खिंचाव आ गया | मैंने स्वाति के माथे को पकड़ के अपनी तरफ खिंचा और और उसके मुंह में ही अपना सारा मॉल निकल दिया | वो सारा मॉल पी गई | उसके बाद मैंने उसे सीधा लिटाया और उसकी चूत में अपना लंड दे दिया | और एक ही झटके में पूरा लंड पार कर दिया | पहले पहले मैंने एकदम स्लो स्लो चोदा | फिर मेरी स्पीड बढ़ गई | वो भी आह्ह्हह्ह्ह्हह्ह…आय्ह्ह्ह…अय्य्य्हह्ह्ह अह्म्म्म.. फक मी राज़ ….आह्ह्ह्ह.. फक में हार्ड… कर के हिल रही थी | और अब मस्त चुदवा रही थी | फिर मेरे लंड का पानी स्वाति की चूत में निकल गया |फिर मैंने लंड को निकाला | स्वाति टाँगे फैला के ऐसे ही लेटी हुई थी | उसकी पिंक चूत में मेरा सफ़ेद वीर्य लगा हुआ था | मैंने अपने गंदे लंड को उसके मुहं में दिया चूसने के लिए | उसने लंड को थोडा चूसा और वो एकदम कडक हो गया | फिर मैंने उसे घोड़ी बना दिया और फिर उसकी चूत पीछे से मारी | इसी तरह करीब तीन बार मैंने उसे चोदा |

फिर हमने कपड़े पहने और बाहर आ गए | बाहर आते समय उसने मुझे एक जोरदार किस दिया | फिर मैंने वापस उसे उसके घर के पास छोड दिया | वो पहली लड़की है जिसके साथ मैं बार बार सेक्स करता हूँ और मुझे बहुत मज़ा आता है | आज भी मेरी उससे बात होती है | और हम मौका देखते ही चुदाई का प्लान करते हैं | और फिर जम कर सेक्स के मज़े लेते हैं |