मेरी पहली सुहागरात पड़ोस वाली भाभी के साथ

मैंने वीरेंदर हूँ और उत्तराखंड से हूँ | मेरी उम्र 25 साल है और मैं दिखने में बहुत ही गोरा हूँ | मेरी हाईट भी अच्छी खासी है 6 फूट और इंच हाईट है मेरी | जब मैं लम्बा हूँ तो मेर लंड भी लम्बा है, मेरा लंड 10 इंच लम्बा और 4 इंच मोटा है | मैंने अपनी लाइफ में कभी सेक्स नहीं किया था पिछले 2 महीने पहले तक | मैं अभी पार्ट टाइम जॉब करता हूँ जहाँ बहुत सारी लड़कियां हैं पर पता नहीं क्यूँ ? मुझसे एक भी नहीं पटी थी | मैं देसी सेक्स स्टोरीज का बहुत बड़ा फेन हूँ और मुझे स्टोरीज पढना बहुत पसंद है | पर मेरे साथ ऐसा हुआ ही नहीं था जो मैं किसी को बता पाता और अब जब हुआ है तो मैं अपलोगो के समक्ष रख रहा हूँ | चलो दोस्तों अब मैं आप लोगों को बता हूँ कि कैसे मैंने अपनी विर्जिनिटी तोड़ी वो भी अपनी पड़ोस वाली भाभी के साथ |

ये घटना आज से 2 महीने पहले की है उस समय मस्त ठंड का मौसम चल रहा था और मैं अपनी जॉब के लिए रोज सुबह 10 बजे घर से निकलता था | हमारे घर के बाजु एक घर है जो की ज्यादातर किराये से ही चलता है और जो उस घर के मालिक हैं वो विदेश में रहते है तो उनके घर में किरायेदार ही रहा करते हैं | अभी काफी टाइम से वहाँ कोई नहीं था पर उस दिन जब मैं सुबह अपने ऑफिस के लिए निकल रहा था तब मैंने देखा कि वहां कोई फॅमिली आ रही है रहने के लिए | मैंने भी सोचा की शायद ऐसे ही कोई नार्मल फॅमिली होगी जिसमे मेरे काम का कोई भी नहीं होगा | यही सोच कर मैं फिर अपने ऑफिस के लिए निकल गया था | फिर मैं जब शाम 5 बजे आया वहाँ से तो देखा की एक मस्त सी भाभी अन्दर जा रही थी मैं उसे देखता ही रह गया | क्या मस्त भाभी थी वो 34 के दूध साइज़ गांड आए हाय गांड तो एक दम कातिलाना थी 38 की | इतना गजब का माल देख के तो हर किसी का लंड खड़ा हो जाये ऐसे हुस्न की मल्लिका थी वो | फिर मैं घर आ गया अपने और फिर सोचने लगा कि वो हुस्न की मल्लिका है कौन ? फिर मैंने अपनी मम्मी से पूछा कि मम्मी यहाँ कोई रहने आए हैं क्या बाजु में ? तो मम्मी नै कहा की हाँ आए हैं बहुत सीधे सादे लोग हैं वो फिर मैंने कहा कि अच्छा !!!! ठीक है | फिर मैं अपने रूम में चला गया और टीवी देखने लगा फिर थोड़ी देर बाद मुझे डोर बेल की आवाज़ आई मैं तुरंत नीचे गया देखने की कौन आया है मम्मी बर्तन साफ कर रही थी इस वजह से उन्हें डोर बेल सुनाई नहीं दी थी तो मैं नीचे गया |

दरवाजा खोला तो देखा कि वो ही बाजु वाली भाभी आई हैं तो मैंने उन्हें नमस्ते किया और कहा कि हाँ जी बोलिए ! तो वो बोली कि बेटा थोडा शक्कर मिलेगा क्या ? मेरे घर में कुछ रिलेटिव्स आए हैं और हम लोग आज ही यहाँ शिफ्ट हुए हैं तो कुछ सामान नहीं ला पाए हैं | तो मैंने कहा कि कोई बात नहीं फिर मैंने उन्हें शक्कर दे दिया और वो चली गई | फिर ऐसे ही धीरे धीरे हम लोगों की आपस में बहुत अच्छी पहचान हो गई और वो हमारे यहाँ रोज आती थी | असल में उनके पति डेल्ही में जॉब करते थे तो वो वहीँ डेल्ही में ही रहते थे और उनका कोई भी बच्चा नहीं था तो वो भाभी अकेले ही रहती थी | फिर ऐसे ही कुछ दिन बीत गए थे और समय तक मैंने कभी उन्हें चोदने के बारे में नहीं सोचा था पर एक दिन मैं सन्डे के दिन छत में टहल रहा था | बाजु वाली भाभी नहा कर ऊपर कपडे सुखाने आई थी और गाउन पहना था ब्लू कलर का यार कसम से क्या मस्त लग रही थी वो | गीले गीले बाल और खुले हुए इतनी गजब की लग रही थी क्या बताऊ | फिर मैंने भाभी को आवाज़ लगा कर पूछा कि भाभी नहा लिए तो वो बोली हाँ | फिर मैंने उनसे बोला कि भाभी अगर आपको कुछ भी काम हो तो मुझसे कह देना मैं कर दिया करूँगा | भाभी बोली अच्छा बेटा चल घर आजा खाना बनाने में मदद करदे | मैंने बोला रुको अच्छा आता हूँ फिर मैं भाभी के घर गया तो वो बोली रुकना थोडा मैं अभी आती हूँ | मैंने बोला ओके फिर भाभी अन्दर वाले रूम में चली गई और दरवाजा बंद करना भूल गई थी तो मैंने सोचा की चलो देखता हूँ की क्या कर रही हैं भाभी | मैं थोडा सा दरवाजा खोल के देखा की भाभी बिलकुल नंगी हो चुकी थी और अपनी ब्रा पहन रही थी दूध तो नहीं देख पाया पर उनकी गांड देख के मेरा लंड खड़ा हो गया था | मैं अपना लंड सहलाने लगा था उतने में मेरे फ़ोन की घंटी बज गई और भाभी ने मुझे पलट कर देखा तो मुझे उनकी चूत दिख गई |

वो मुझे देख कर सन्न सी रह गई और जल्दी से अपना गाउन उठा कर अपने बदन को छुपाने लगी फिर मैं भी जल्दी से भाग कर आया और सोफे पर बैठ गया | फिर भाभी गुस्से से बाहर आई और मुझसे बोली की तुम ये क्या कर रहे थे ? तो मैंने बोला भाभी की मुझसे गलती हो गई मुझे आपको कपडे पहनते हुए नहीं देखना चाहिए था पर मैं क्या करता भाभी मुझसे रहा नहीं गया और मैं ऐसी गलती कर बैठा मुझे माफ़ कर दो | तो भाभी बोली की देखो मैं ये बात किसी को नहीं बताउंगी पर तुम यहाँ से चले जाओ और मुझसे बात मत करना | ये सुन कर मैं मुह लटका के जाने लगा | फिर मैं घर आ के छत पर चला गया और अपनी गलती पे शर्मिंदा न हो कर मैं छत पर बैठ कर मुठ मारने लगा | मुझे नहीं पता था कि भाभी छत पर ही होंगी वो मुझे छुप कर देखने लगी | और मैं मुठ मर रहा था | फिर अचानक से बोली कि तुम अब ये करने लगे | तो मैंने बोला भाभी मैंने आपको ऐसा नंगा देखा तो मेरा मुठ मरने का मन हो गया मैं क्या करता ? तो वो बोली तुम मेरे घर आओ अभी तो मैं छत से उनके घर चला गया और वो मुझे बैठा कर बोली कि सुनो एक काम की बात है तो मैंने बोला हाँ बोलिए |

पहले तो वो शर्मा गई और फिर उन्होंने कहा की मुझे तुम्हारे साथ सेक्स करना है तो मैंने कहा कि आप अब ऐसा क्यूँ बोल रहे हो ? तब वो बोली की मेरे पति बाहर रहते हैं और मेरा मन करता है की मुझे कोई चोदे पर मेरी चूत प्यासी की प्यासी ही रह जाती है | तो फिर मैंने उनके कंधे में हाँथ रख के कहा कि भाभी आप ऐसे परेशान मत हो और उन्होंने मेरे दिल पर सर रख के मुझे पकड़ लिया | मैं भी उनकी पीठ सहलाने लगा और कहा की भाभी आप को अब दुखी होने की जरूरत नहीं है मैं करूँगा आपकी मदद | फिर वो मेरे होंठ पर अपने होंठ रख के किस करने लगी और मैं भी उन्हें चूमने लगा और साथ में उनके दूध दबाने लगा और फिर हम दोनों 20 मिनट तक ऐसे ही एक दूसरे को चूमने लगे और चूमते चूमते मैंने उनका गाउन उतार दिया और वो अब बस ब्रा और पेन्टी में रह गई थी और उन्होंने नें मेरे कपडे उतार दिए थे | मैं बस चड्डी में आ गया था फिर मैंने उनके दूध पीने चालू कर दिया था और वो आआहाआआ आआहहहा आहाहह्हा आहाहहा अब मुझे इतने दिनों बाद एक लंड मिलेगा | आहहाहाआ बहुत मजा आ रही है फिर उनके दूध चूसने के बाद मैंने उन्हें लेटाया और उनकी चूत चाटने लगा उनकी पेन्टी उतार के | उनके मुंह से सिस्कारिया निकल रही थी और वो अआहाहा आआआहाअह आहहहाआअ आआहा आआह्हहा आहाह्हहा अहा कर रही थी | फिर उन्होंने मेरा लंड चूसा 10 मिनट तक मुझे बहुत मजा आ रहा था क्यूंकि मेरा इतना बड़ा लंड उनके मुह में नहीं जा रहा था और वो तब भी कोशिश करते हुए मेरा लंड बड़े प्यार से चूसे जा रही थी | फिर मैं उन्हें लेटा कर उनकी चूत में अपना लौड़ा पूरा घुसेड दिया था | जिससे उसको बहुत मजा आ रहा था मैं जोर जोर से उन्हें धक्के मार मार के चोदे जा रहा था और वो आः अहहहः अहहहः अहहहः अहः आहाहा चोदो मुझे आहाहाहा अहाहा अ क्या मस्त लंड है रे तेरा | आहाहाहा अहाहा मजा आ रहा है मुझे बहुत अहहहहाह अहहहः आहा बड़े दिनों बाद मुझे लंड मिल रहा है अहहहहहह्हा अहहह्हा अहहाअहाआ आआअ बहुत अच्छी चुदाई करते हो तुम | और मैं बस उसे जोर जोर से चोदे जा रहा था | करीब आधे घंटे की चुदाई के बाद मैंने अपना वीर्य उसके मुंह में छोड़ दिया था और वो सारा सारा का माल पी गई थी |

तो दोस्तों ऐसे मनी थी मेरी पहली सुहागरात उस भाभी के साथ |