मेरी बडी गान्ड

hindi sex stories, desi sex kahani हेल्लो दोस्तो
मेरा नाम रिचा है मे गुजरात कि रहने वाली हूँ।
मेरी उम्र 22 साल कि है,और मेरा फिगर 34-26-35 है।
मे एन्जीनियरिंग कि पढाइ कर रही हूँ।
मुजे अपनी गान्ड मरवाने की बडी तमन्ना थी,और मुजे अपनी बडी गान्ड पर बडा ही नाज है।
मे हमेशा टाइट जिन्स ही पहनती हूँ जिसमे से मेरी बडी गान्ड साफ़ दिखाइ देती है।
मेने अपनी चूत तो कइ बार चुदवाइ है लेकिन अभि गान्ड नही मरवाइ, मुजे अब तक कोइ ऐसा नही मिला था जो
मेरी गान्ड को फाड सके।आज मे आपको मेरे जीवन कि एक सच्ची कहानी बताने जा रही हूँ कि कैसे पहेली बार मेरी गान्ड फटी थी।
मेरी कालेज मे विशाल करके एक प्रोफ़ेसर है जो हमेशा मुजपे डोरे डालते रहते थे, वो जब भी मुजे मिलते थे
तब उसके मुह पे एक अजीब सी हसी होती थी, मुजे वो बहूँत पसंद थे इस लिये मे भी उसके साथ हस कर बाते करती थी।एक दिन अचानक वो मेरे पास आये और बोले मेरी ओफ़िस मे आओ मुजे तुमसे कुछ काम है,
मेने बोला ठिक है और उसके पीछे पीछे चलती हूँइ उसकी ओफ़िस मे गयी।
उसने मुझे बैठने को बोला मे बैठ गयी, फ़िर उसने कहा आज मेरे घर पे एक पार्टी हे सिर्फ़ कुछ लोगो को हि बुलाया है और मुजे तुम्हारी मदद की
जरुरत है।

मे बोली केसी पार्टी है तो उसने कहा आज मेरा बर्थडे है, मेने उसे विश किया फ़िर बोली इस मे मेरी केसी
मदद चाहीये तो वो बोले देखो रिचा मे अकेला रहेता हू और मेरी समज मे नहीं आ रहा कि पार्टी कैसे
करु अब तक तो मेने कुछ भी नहीं किया है।

मे हसने लगी मुजे उस पर दया आने लगी और बोली कोइ बात नहीं सर मे हू ना मै आपकी मदद करऊँगी,
वैसे कब है पार्टी तो उसने कहा पार्टी तो शाम को है, मेने सारा सामान तो ला दिया है लेकिन यह नहीं पता डेकोरेशन कैसे करना है,
हम शाम को साथ चलते है ओके, तो मेने हाँ कर दी।

कालेज से छुटने के बाद मै उसके साथ उसकी बाइक पे बैठ के उसके घर पे चली गयी।
घर पहूँच कर वो बोले तुम यहा बैठो मे तुम्हारे लिये कुछ लाता हूँ फ़िर हम काम शुरु करेंगें।
मेने कहा ठीक है तो वो गये और एक ग्लास मे ड्रिन्क लेके आये और मेरे पास बैठ गये और मुजे ड्रिन्क दे दि।
मे उसे पिने लगी उसका स्वाद थोडा अजीब था लेकिन मे पी गयी।
वो अब भी मेरे पास बेठे थे और मुजे देख कर मुस्कुरा रहे थे।
मुजे अजीब सा महेसुस होने लगा जैसे मे हवा मे उड रही हू।
मुजे थोडी थोडी नींद आने लगी।
शायद उसने ड्रिन्क मे कुछ मिलाया था।

तभी उसने मुजे पकड लिया और मेरे गुलाबी होठो को चुमने लगे, मे कुछ बोलने कि हालत मे नही थी।
वो मुझे अपनी बाहो मे भर कर चूम रहे थे और अपने एक हाथ को मेरी टी-शर्ट के अन्दर डाल कर मेरी ब्रा
के उपर से ही मेरे स्तनो को दबाने लगे, पता नहीं उसने मुझे क्या दिया था मे बहूँत ही हेरान थी।
फिर वो उठे और मुजे अपनी गोद मे उठा लिया और एक कमरे मे ले गये और मुजे बिस्तर पे पटक दिया।
फिर वो मेरे उपर चढ गये और फ़िर मेरे होठो को चूसने लगे, और बोलने लगे
बहूँत दिनो से तुम्हे पाना चाहता था आज जाके हाथ मे आयी है, आज तो मे अपनी पूरी हवस मिटाऊँगा।
फिर उसने मेरे टि-शर्ट और मेरी जिन्स को निकाल दिया,अब मे उनके सामने सिर्फ़ ब्रा पेन्टी मे थी।
फिर उसने मेरी पेन्टी को पकडा और जोर से खीच कर फाड दिया जिससे मेरी गुलाबी चुत उनके सामने आ गयी
मे तो जेसे बेहोशी की हालत मे थी कुछ भी नहीं कर सकती थी, ऐसे ही उसने मेरी ब्रा को भी खींच के फाड दिया
अब मे उनके सामने पुरी तरह से नंगी हो चुकी थी, मेरे बडे बडे स्तन उनके सामने लहेरा रहे थे,
मेरे स्तनो को देख कर वो पागल हो गया और मुह मे लेके मेरी चुचीयो को चूसने लगा,मुज पर जेसे नशा सवार होने लगा।
मे अपनी आखे बँध करके पडी हूँइ थी।
करीब 15-20 मिनिट तक वो एसे ही मेरे बदन को चुमता रहा, अब दवा का असर थोडा कम होने लगा था।
फ़िर वो उठा और अपने कपडे निकाल ने लगा।
जब उसने अपना लोडा निकाला तो मे देखती रह गयी वो करीब 8 इंच बडा और 2 इंच मोटा था।
मुझसे रहा नही गया मे लपकी और उसका मोटा लोडा मुह मे लेके चूसने लगी, वो हेरान रह गया शायद
उसने यह नहीं सोचा था।

वो बोला साली तु तो रन्डी निकली पहले पता होता तो तेरे ड्रिन्क मे दवा नही मिलाता।
मे भी अब बेशर्म हो गयी थी और उसका लन्ड चूसने लगी।
वो बोला साली कुतिया आज तो तेरे तीनो छेद को मे फ़ाड दूँगा, मे बोली
हा मेरे राजा आज तो मुजे अपनी रन्डी बना दे फ़ाड डाल मेरे छेदो को आह्ह्।
उसने अपना लन्ड मेरे मुह मेसे निकाला और बोला बोल साली रन्डी कहा डालू पहले।
मे बोली आज तक मेने मेरी गान्ड नही मरवाई आज तु ही फाड दे।

वो बोला चल मेरी रानी कुतिया बन जा।
तो मे अपने चार पेरो पे कुतिया की तरह उसके सामने अपनी गान्ड कर के बैठ गई।
उसने ढेर सारा थुक लिया और मेरी गान्ड के छेद पे लगा दिया, फिर उसने अपना सुपाडा मेरी गान्ड के छेद पे रखा
और एक जोर का धक्का मारा…
आईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईइ मे जोर से चिल्लाइ
एक ही झटके मे उसने अपना पुरा लन्ड मेरी गान्ड के उन्दर डाल दिया मे रोने लगी
छोड दो मुजे आह्ह्ह्ह्ह्ह प्लिज उईईईईइ मे मर गई।
वो मेरी गान्ड को धिरे धिरे सहला रहा था फिर उसने अपना लन्ड बाहर निकाला और फिर एक और जोर का
धक्का मे फिर चिल्लाइ लेकिन इस बार वो नही रुका और धक्के पे धक्का मारने लगा।
मुजसे दर्द बरदाश्त नही हो रहा था मे रो रही थी लेकिन वो नही रुका और धक्के पे धक्का मारने लगा
करिब 10 मिनिट के बाद दर्द दूर हूँआ…।
मेरी गान्ड मेसे फ़चक… फ़चक… कि आवाज आ रही थी।
आख़िरकार मेरा गान्ड मरवाने का सपना पुरा हूँआ था।
अब दर्द पुरा गायब हो गया था और मुजे बडा मजा आने लगा था।
मे चिल्ला रही थी।

आह्ह्ह्ह्ह मेरे राजा फाड दे मेरी गान्ड को आहहहह और जोर से आहहहह…
मुजे अपनी रन्डी की तहर चोद्……… उईईईईईई……
उसने अपना लन्ड मेरी गान्ड मेसे निकाला और नीचे सो गया, मे समज गयी और उसके उपर चढ गयी
मेने उसका लन्ड लिया और अपनी गान्ड के छेद पे रखा और धक्का दिया।
इस बार वो बडी आराम से मेरी गान्ड के अन्दर चला गया।
अब मे उसके लन्ड के उपर मेरी गान्ड पटक पटक कर चुद्ने लगी……
वो भी नीचे से धक्के मार रहा था…
फ़चक्…… फ़चक्…… फ़चक्…… पूरे कमरे मे यही आवाज आ रही थी।
मुजे उसकी रन्डी बन कर बहूँत मजा आ रहा था।

करी 20 मिनिट तक वो मेरी गान्ड फाड ता रहा फिर वो बोला मे झड़ने वाला हूँ कहा निकालूं।
मेने कहा मेरी गान्ड मे ही छोड दो तो वो जोर जोर से धक्के मारता मारता मेरी गान्ड के उन्दर ही झड गया।
फिर मे उठी और उसके लन्ड को मुह से साफ़ कर दिया।
वो बोला तू तो बडी मजेदार चिज है अब तो रोज तेरी गान्ड और चुत मारूँगा।
मे बोली ऐसे लोडे से कोन नहीं चुद्ना चाहेगा मेरे राजा आज से मे तेरी रन्डी हुं तुम्हें जैसे चाहे मुझे चोदना।
वो बोला तो चल अब तेरी चूत कि बारी है…और हम फ़िर एक दुसरे मे समा गये…………।

बाद मे उसने मुजे बताया की वो कई दिनो से मुजे चोदने का प्लान बना रहा था और उसने ये नकली पार्टी का आइडिया निकाला था।
उस दिन के बाद हम कालेज के बाद रोज उसके धर पे जाते और वो मुजे चोदता रहता।

धन्यवाद …

error: