मामी की चुदी चूत को शांत किया

incest sex हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम शान है। आज में आपको कहानी नहीं सच्चाई सुनाने जा रहा हूँ। अब में सीधा मुद्दे पर आता हूँ। में 25 साल का हूँ, मैंने आज तक किसी को नहीं चोदा है, बस बूब्स जरुर दबाये है। मेरी मामी 40 साल की है और मेरे मामा ने दो शादियाँ की हुई है, वो दूसरी वाली के साथ रहते है और मेरी पहली मामी नानी के यहाँ रहती है। में अपनी नानी के यहाँ पढ़ाई के लिए रुका हुआ था। अब हम सब लोग एक ही कमरे में सोया करते थे। अब पहले तो मैंने ऐसा कुछ सोचा नहीं था, लेकिन जब में मामी की गांड और बूब्स को देखता तो अपने आप मेरा लंड 8 इंच का खड़ा हो जाता था। मेरी मामी दिखने में तो बहुत ही सेक्सी है, जब वो लाल साड़ी पहनती है तो एकदम पटखा लगती है। मेरी मामी पतिव्रता है, लेकिन मैंने भी ठान लिया था कि इनकी चूत को अपने लंड का रसपान जरूर करवाऊँगा।
फिर एक दिन मुझको नींद नहीं आ रही थी तो में अपने कमरे से उठकर उस कमरे में आ गया, जहाँ मामी और नानी सोती है। फिर में मामी के पास आकर सो गया। फिर 30 मिनट तक तो कुछ नहीं हुआ और फिर वही शुरुआत, जो सब करते है उनके पेट पर अपना एक हाथ रखा, लेकिन मैंने कुछ एड्वान्स किया था। अब में टावल में ही उनके साथ सो गया था। बस फिर क्या? फिर मैंने अपने पैरो से उनकी साड़ी ऊपर की और अपनी जांघो को उनकी गर्म जांघो से चिपका दिया। तो वो बस सोती रही, तो में समझ गया कि अब बाज़ी अपने हाथ में है। फिर मैंने उन्हें अपने करीब खींच लिया और फिर ऊपर से ही उनकी चूत को ज़ोर से रगड़ने लगा। अब मुझे बहुत मज़ा आ गया था। फिर मैंने धीरे-धीरे उनकी साड़ी को ऊपर किया और फिर धीरे से उनकी चड्डी में अपना एक हाथ डाला और ऊपर ही ऊपर उनकी चूत को सहलाने लगा। लेकिन मुझसे एक गलती हो गयी थी, उनके गर्म होने से पहले में ही गर्म हो गया था और फिर एक झटके में अपनी एक उंगली उनकी चूत में डाल दी थी। तो वो चिल्ला नहीं पाई, क्योंकि बाजू में नानी सो रही थी और बस दबी हुई आवाज में छोड़ो-छोड़ो कह रही थी।
अब उनकी आँखो से आँसू टपकने लगे थे, क्योंकि मामा ने उन्हें चोदना छोड़ दिया था और उनकी चूत वापस से टाईट हो गयी थी। हाँ में आपको एक बात बता देता हूँ मामा ने दूसरी शादी इसलिए की थी, क्योंकि इनसे कोई औलाद नहीं हुई थी तो जायज है चूत टाईट तो होगी ही। अब बस वो छोड़ो-छोड़ो चिल्ला रही थी। फिर जब मैंने अपनी एक उंगली एकदम से उनकी गर्मा गर्म चूत में डाली तो वो अपना मुँह खोलकर चिल्लाना चाहती थी, लेकिन चिल्ला नहीं पाई थी, क्योंकि नानी बाजू में सो रही थी। फिर मैंने उन्हें कसकर पकड़ लिया। अब में अपने होंठो से उनके होंठो को चूमने लगा था, अरे बूब्स बाद में दबा लेता, लेकिन उस वक़्त तो मेरे सिर पर चुदाई करने का भूत सवार था।

फिर जब मैंने अपनी बीच की उंगली उनकी चूत में डाली, तो उन्होंने अपनी दोनों जांघो से मेरे हाथ को रोकने की कोशिश की, मगर में बहुत जल्दी में था जैसे कोई ट्रेन निकल रही है। फिर मैंने पूरी ताकत लगाकर अपनी दूसरी उंगली भी उनकी चूत में डाल दी। अब उनकी आँखो से आँसू निकलने लगे थे, लेकिन मैंने उन पर कोई दया नहीं की और अपने पैरो से उनके दोनों पैरो को अलग किया और अब में तो अपने लंड को पहले ही निकाल चुका था। आप सब सोच रहे होंगे नानी जागी नहीं, तो वो बहुत गहरी नींद में सोती है और ना भी सोए तो में क्या करूँ? अब उस टाईम तो बस एक ही जुनून सवार था अपने गर्मा गर्म लंड को मामी की चूत में डालना था। बस फिर क्या था? सच कहूँ तो मुझे बहुत पसीना आ गया था। अब वो डर रही थी कि कहीं नानी ना जाग जाए इसलिए वो मेरा प्रतिरोध कर रही थी। अब वो चुदना चाहती थी, मगर इस तरह नहीं जिस तरह से में उन्हें पहली बार चोद रहा था। बस फिर क्या था? मैंने उनके कान में कहा कि बस एक बार डालूँगा बाकि का काम कल कर लूँगा, बस मेरे लंड को अपनी चूत के दर्शन करा दो, मगर वो नहीं मानी।
अब में थोड़े ही मानने वाला था। अब में उसके ऊपर पहले ही चढ़ चुका था। अब मेरा लंड खुला हुआ था और उनकी जांघो से टकरा रहा था। सच कहूँ तो मुझसे ज़्यादा मेरा लंड ज़्यादा जल्दी में था। अब उसे तो बस अंदर जाना था, चाहे कुछ भी हो जाए। फिर मैंने अपने एक हाथ से अपना लंड पकड़ा, लेकिन उनकी चड्डी बीच में आ गयी थी, तो मैंने अपने दूसरे हाथ से उनकी चड्डी को थोड़ा सा खिसकाकर अपने लंड को बस रास्ता दिखाया और फिर अपने लंड को उनकी गर्मा गर्म चूत पर रखा और एक झटका दिया, लेकिन साला फिसल गया और अंदर नहीं गया, लेकिन मैंने दूसरी बार अपने लंड को उनकी चूत से लगाया और अपने एक हाथ से पकड़कर एक धक्का दिया तो मेरा लंड जरा सा अंदर चला गया। अब वो बस कुछ कर नहीं पा रही थी, जैसे बिन पानी मछली तड़प रही हो, क्योंकि मैंने अपना सूखा लंड ही उनकी चूत में डाल दिया था।
फिर मैंने देर नहीं की और अपना दूसरा झटका दिया तो मेरा आधा लंड उनकी चूत में समा गया था। अब वो बस छत की तरफ देखकर रो रही थी। फिर मैंने नीचे अपना एक हाथ लगाकर देखा तो उनकी चूत में से खून निकल रहा था। फिर मैंने कोई समय गवाए बिना अपनी टावल नीचे फंसा दी और अपना आख़िरी झटका दिया और वो उनकी आख़िरी चीख थी, मेरा मतलब सबसे दर्दनाक चीख थी। फिर में 10 सेकेंड रुका और फटाफट से अपने लंड को अंदर बाहर करने लगा। तो वो कहने लगी कि धीरे करो, मगर अब में तो बहुत जल्दी में था। अब मेरी गांड फटी जा रही थी कि कहीं नानी जाग गयी तो मेरी गांड मर जाएगी। अब मुझे तो बस अपनी पड़ी थी तो में एक बार फिर से शुरू हुआ और 15 मिनट तक उनको चोदता रहा और अपना सारा वीर्य उनकी चूत में भर दिया। फिर थोड़ी देर तक तो में उनके ऊपर ही पड़ा रहा और फिर चुपचाप बाजू में सो गया।
अब वो अभी भी रो रही थी, तो मैंने कहा कि बाथरूम में जाकर अपनी चूत साफ कर लो। तो वो चुपचाप रोते-रोते बाथरूम में चली गयी। फिर में भी उनके पीछे-पीछे चला गया, ताकि वो कही कुछ उल्टा सीधा ना कर ले। फिर मैंने अपने हाथों से उनकी चूत साफ की और उन्हें समझाया कि मामा तो आपको चोदते नहीं है और अब में ही तुम्हारा ख्याल रखूँगा और फिर उनकी चूत पर किस किया और फिर 5 मिनट तक उनके होंठो को चूसा। अब इतनी देर में मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया था, लेकिन मैंने उन्हें नहीं चोदा, क्योंकि अब बात बिगड़ सकती थी। फिर वो कमरे में वापस आकर सो गयी ।।
धन्यवाद

loading...