मालकिनो की चूत और नौकर का लंड

Malkinon ki chut aur naukar ka lund:

हेल्लो दोस्तों मै एक चोदू नौकर हूँ | मेरा नाम अमित है और मैं फिलहाल मुंबई में रह कर नयी नयी मालकिनों को पटा कर चोदता हूँ | यह मेरा शौक है और मुझे चूत चोदना बहुत पसंद है पर मुझे गांड मारना भी पसंद है | पर अभी तक मेरी किस्मत में किसी की गांड मारना नहीं लिखा है | वैसे तो मैं नौकर नहीं बनना चाहता था पर मेरी मजबूरी और मेरी गरीबी थी जो मुझे नौकर बनने में मजबूर कर गयी | अब मैं आप लोगों को ज्यदा बोर नहीं करूंगा और सीधा स्टोरी में आता हूँ |

वैसे तो मैं इंडियन सेक्स स्टोरीज का बहुत बड़ा दीवाना हूँ सबकी स्टोरी पढता हूँ और हस्तमैथून करता हूँ जब मुझे चूत नहीं मिलती है | आज मैंने भी सोचा की क्यूँ न मैं आप लोगों को अपने कारनामे के बारे में बताऊँ | मैं जब मुंबई आया था पिछले साल ये सोचा कर की मुझे नौकर पेशे में ज्यादा रकम मिलेगी और ये सच भी है आम शहर की तुलना मैं यहाँ ज्यादा पैसा है | मैं यहाँ तब एक आंटी के यहाँ नौकरी करता था जो एक टीचर थी उसकी उम्र करीब 40 होगी पर वो बहुत ऐयाश औरत थी | उसको क्लब जाना पार्टी में जाना और बियर पीना उसका रोज का काम था | पति उसका बिज़नस करता था तो ज्यदातर बाहर ही रहता था और बहुत कम ही यहाँ आता था उस आंटी का नाम अनुश्री था | मैं उसके यहाँ नौकरी कर ही रहा था की उसने अपने ऊपर के कुछ कमरे किराए से दे दिए थे वो मुझे पगार ज्यादा देती थी और मुझे चुप रहने को कहती थी क्यूंकि वो एक प्रकार से चकला घर चलाती थी | और मैं उसको क्लाइंट ला ला के देता था और ऊपर की किरायदार लडकिया ही थी | कॉलेज की साली रंडिया जब देखो तब मुझे आर्डर देती रहती थी मुझे बहुत गुस्सा आती थी पर क्या करे गरीब आदमी मैं उसका धंधा भी बंद नहीं करवा सकता था क्यूंकि उसका धंधा बंद करवाना अपने पेट में लात मारने जैसा था | इसलिए मैं चुप ही रहता था उसका घर भी काफी बड़ा था रईस भी थी तो किसी को शक भी नहीं होता था |

एक दिन की बात है बारिश का मौसम था मै क्लाइंट नहीं ला पाया उस रात को और बत्ती भी चली गयी थी इन्वर्टर से भी कुछ घंटे ही बिजली चल पायी फिर अँधेरा हो गया | करीब 9 बजे 4 लड़कियां मेरे पास आई और बड़े प्यार से बोलने लगीं अमित आज क्लाइंट लेके क्यूँ नहीं आया | मैंने कहा की आज कोई मिला ही नहीं नया बंदा मुझे पता है की आप लोगों को नया नया बंदा चाहिए अपनी चूत के लिए | इतना सुनते ही मेरे गाल खीचते हुए बोली बड़ा हो गया है रे तू तो खूब लंड चूत करने लगा है | उस टाइम मैं एक बार भी चुदाई नहीं कर पाया था मैं बड़ा अजीब सा फील कर रहा था जब वो मुझे छू रही थी | पर थोडा थोडा अच्छा भी लग रहा था की कोई लड़की मुझे छू रही है |  आंटी थी नहीं वो पार्टी में गयी हुई थी फिर उसके बाद मैंने कहा उन लड़कियों से तुमलोग मुझे मत छूओ बड़ा अजीब सा लग रहा है | तो उन्होंने कहा की कैसा लग रहा है राजा हमे भी तो बता | फिर मैंने कहा की कुछ कुछ होने लगता है | बाहर बारिश का समा अन्दर लाइट नहीं और तुम लडकिया | मै अकला बंदा था ये उनको समझते देर नहीं लगी और मुझसे कहा की सुनना अमित तू अपना लंड दिखा ज़रा कितना बड़ा है हम भी तो देखे एक कुवारा लंड कैसा होता है | पहले तो मैं शर्मा रहा था फिर मैंने कहा की आंटी आ गयी तो फिर वो बोली की आ भी गयी तो क्या रे वो तो खुद बहुत बड़ी चुद्द्क्कड़ है न जाने कितने लंड खाए होंगे उसने अपने पति की बिना |

मैं कहा की ये बात तो मुझे नहीं पता बस इतना पता है की तुम लोग चुद्वाती हो और वो पैसे कमाती है |

हाँ रे तू सही बोल रहा है पर वो भी बहुत बड़ी वाली रंडी है | अब तुझे क्या बताये ?

मैंने भी बोला चलो छोड़ो जाने दो हमे क्या ? हमे तो पैसे मिल रहे है बस इतना ही चाहिए मुझे तो | फिर उन्होंने कहा की बस पैसे और चूत नहीं चाहिए ?

तो मैंने कहा की काश मिल जाए यार बहुत तमन्ना है चूत देखने की मैंने कभी रियल में चूत नहीं देखी | फिर उन्होंने कहा की तू तो पहले अपना लंड दिखा |

जैसे ही मैंने अपना लंड दिखाया जो की सोया हुआ था उन लोगों की गांड फट गयी | उन्होंने कहा की तेरा लंड तो बहुत शानदार है बहुत बड़ा है तेरा लंड तो जब तेरा लंड सोते हुए में इतने बड़ा है तो खड़ा होगा तो कितना बड़ा होगा |

मैंने कहा की देख लो खुद कितना बड़ा होगा

फिर जैसे ही उन्होंने मेरा लंड अपने हाथ में लिया वो सांप की तरह फनफना के खड़ा हो गया मेरा लंड 12 इंच मोटा हो गया ये देख के उनके मुह में पानी आ गया | तो एक लड़की जिसका नाम सुनीता था वो मेरा लंड पकड के चूसने लगी बाकी लड़कियां मेरे टट्टे चूस रही थी और मुझे किस कर रही थी और मेरे शरीर पर हाथ फेर रही थी मैं हर तरफ से लड़कियों से घिरा हुआ था | फिर उसके लंड चूसने के बाद बारी बारी से सबने मेरा लंड चूसा और सब ने टट्टे भी चाटे उनलोग को बहुत मजा आ गया और मुझे भी | मैं भी बस आअहहह हाहहहः अहहहः अहहहह अहहः अहहहः अहहः अहहह कर रहा था | मुझे भी मजा आ रहा था लंड चुस्वाने में क्यूंकि आज तक मेरा लंड कुवारा था फिर उसके बाद वो सब मुझे ऊपर वाले रूम में ले गई और फिर अपने कपडे उतारने लगीं ये देख के मेरा लंड और टाइट हो गया एक दम फिर उन्होंने मुझे बेड पर लिटा दिया और फिर बदन से बदन लगा कर मुझसे लिपट रही थी और मेरा लंड चूस रही थी | फिर और मैं मजे से आअहहह अहाहाहा आहाहौऊंनंह अहहहहः अहहह्हाह  कर के लंड चुसवा रहा था | हम सब को बहुत मजा आ रहा था उसके बाद मैंने सबको कहा की तुम सब लाइन से अपनी टाँगे फैला कर लेट जाओ सबने ऐसा ही किया और सब लेट गये फिर उसके बाद मैं बारी बारी से सबकी चूत चाट रहा था और सबके भी दूध चूसे | फिर सबको बारी बारी से चोदा जब मैं सबको चोद रहा था तब वो आआहहह अहहहः अहहाहहः अहहहा औऊउन्ह्य अहहहः अहहह्हः ऊउहंह और चोदो अहहहहहः क्या लंड है रे तेरा |

अहहहः ऊउन्न्हहहह अझाहहः अहहहह्हा ऊउन्हहहह अहहहब और चोदो फाड़ दो मेरी चूत और बना दो भोसड़ा मेरी चूत का हाहहहहः अहहहहः ऊउन्न्हहह क्या लंड है रे तेरा मजा ही आ गया | फिर मैं रोज उनको ऐसे ही कभी भी चोद लिया करता था जब आंटी नहीं रहा करती थी उन लडकियो को मेरे लंड की बिना अच्छा नहीं लगता था और वो मेरे लंड की दीवानी हो गयी थी | पता नहीं क्या हुआ साला वो मनहूस दिन आंटी ने मुझे रंगे हाथों पकड़ लिया था | फिर उसके बाद उसने उन लड़कियों को निकाल दिया था | और अब तीन लडकिय ही बच गयी थी |

एक दिन पता नहीं क्या हुआ आंटी ने मुझे अपने पास बुलाया और कहा की अपना लंड दिखा मैं डर गया | मैंने आंटी से डरते हुए कहा की आंटी क्क्क्यया क्या हुआ आपप्पप आप्प आप ऐसे क्यूँ बोल रहे हो ?

आंटी बोली की दिखा रहा है की नहीं ? मैंने बोला ठीक है दिखा रहा हूँ |

फिर मैंने अपना निक्कर खोल के आंटी को लंड दिखाया वो भी डर गयी और तुरंत मेरे पास आ के मेरे लंड को हाथ में लेने के बाद बोली तेरा लंड तो बहुत बड़ा है और उतने ही मेरा लंड खड़ा हो के तन गया था | आंटी से भी रहा नहीं गया और उन्होंने तुरंत मेरे लंड पे किस की |

मेरे मुह से सिसकारी निकल गयी ह्ह्ह्हह्ह

आंटी बोली कितना बड़ा लंड है रे तेरा और बोल के मुह पे लेने लगा गयी |

और मैं बस अहहः अहहः अहहः अहहः कर रहा था और और आंटी को मुंह को चोदने लग गया |

आंटी भी जोश में आ गयी और खूब जोर जोर से मेरे लंड को चूसने लग गई और मै भी आंटी के मुंह को जोर जोर से चोदने लग गया | फिर आंटी ने अपना गाउन उतारा उनके दूध बाकी लड़कियों की तुलना में काफी बड़े थे फिर मैंने उनका दूध चूसा और चूत चाटी फिर उन्होंने मुझसे अपनी गांड भी चटवाई और फिर मैंने उन्हें खूब चोदा उस टाइम मैंने उनको दो बार चोदा था और तीन बार गांड चोदी थी | जैसा की मैंने आप लोगों को पहले ही बताया था की मैं गांड मारने का कितन शौक़ीन हूँ और मैंने अपना वीर्य आंटी के मुह में ही छोड़ दिया था | वो सारा माल पी गयी | फिर जबसे ऐसा ही चलता रहा कुछ टाइम तक |

तो दोस्तों कैसी आप लोगों को मेरी ये स्टोरी |