मैडम को चोदा रगड़ के और शादी रचाई

मेरा एक प्यार भरा नमस्कार मेरे उन साथियों को जो सेक्स स्टोरी के शौक़ीन हैं और उन्हें अक्सर चोदने का मन होता है | मैं आकाश हूँ और अम्बाला में रहता हूँ और मुझे भी सेक्स स्टोरी पढने का बड़ा शौक है | मैंने कई बार चुदाई की है पर मुझे लगा की यह सारी चीज़े किसी को बताई नहीं जाती पर इन स्टोरीज को पढने के बाद मैं खुल सा गया हूँ | और मेरा एक सलाम उन लोगों को भी जो सेक्स स्टोरीज नहीं जानते आखिर होता क्या है | तो दोस्तों आ जाओ चुदाई की इन हसीन वादियों में और खो जाओ चूत की गहराई में | यकीन मानो मेरा जिंदगी का असली मज़ा मिल जाएगा तुम्हे |

मैं एक साधारण सा लड़का हूँ और मेरे घर में भी एक छोटा सा सुखी परिवार है | मेरे बच्चे हैं, बीवी है और मम्मी पापा हैं | वैसे तो मुझे चुदाई का चस्का तब से ही चढ़ गया था जब मैं 10 वी की परीक्षा दे रहा था | मुझे नंगी लड़कियों और औरतों को देखने का बड़ा मन करता था और उनको देख कर मैं मुठ मार लेता था | मैंने एक बार सोचा क्यूँ न डर का खात्मा कर दिया जाये क्यूंकि नंगी औरतों को देखने के लिए जोखिम भी उठाना पड़ता है और पकडे गए तो मार बहुत पड़ती है | सबसे पहले तो मैंने सोचा की में अपने दिम्माग का खोब इस्तेमाल करूँगा और नयी चीजों के ज़रिये देखूंगा |

मैंने सबसे पहले अपने स्कूल से ही शुरुआत कर दी और वह पे मैंने कैमरे लगा दिए लेडीज टॉयलेट में | जब भी स्कूल की टीचर्स मूतने जाती मुझे उनकी चिकनी या झांटों भरी चूत के दर्शन हो जाते और मैं मुठ मार लेता बाथरूम में जाकर | फिर मुझे इससे भी कुछ सुकून न मिला और मैंने सब कुछ रिकॉर्ड करना शुरू कर दिया ताकि मैं घर में भी मुठ मार सकूँ | अब मेरा मन और भी ज्यादा मचलने लागा जब से हमारी नयी स्पोर्ट्स टीचर स्कूल में आई थी | उसका क्या गज़ब का फिगर था | जा वो दौड़ती तो उसके दूध मस्त हिलते थे बड़े बड़े जो थे | मैं तो बस उसी में खो जाता था और यही सोचता था बस एक बार इसे चोदने मिल जाये तो मुठ मारना छोड़ दूंगा | पर इतनी आसानी से हाथ में आने वालो में से नहीं थी वो | फिर एक दिन मैं स्पोर्ट्स का सामान लेने रूम में गया और देखा की मैडम और सर किस कर रहे हैं और मैंने यह सब रिकॉर्ड कर लिया |

अब बारी थी उसकी बथोर्र्म की रिकॉर्डिंग की जिसका मौका मुझे अभी तक नहीं मिला था और मैं तो बस मौके की तलाश में था | आखिर वो पल आ ही गया जिसका मुझे बेसब्री से इन्तेजार था क्यूंकि वो मूतने आई और मैंने रिकॉर्ड कर लिया | बस अब क्या था मैडम के नंबर की जुगाड़ करनी थी जो की मुझे दोस्त से मिल गया और मैंने वो वीडियो उनको भेज दिया | उन्होंने मुझे बहुत पूछा कौन है कहा से बोल रहा है पर मैंने भी कच्ची गोलियां नहीं खेली थीं | मैंने भी कह दिया शाम को इस पते पर आ जाना सब लकुच पता चल जाएगा | मैंने उसे अपने दूसरे घर में बुलाया था जहाँ कोई भही नहीं रहता था | बस डर इस बात का था कि सर भी साथ में न आ जाये | पर मेरी किस्मत अच्छी थी की वो अकेले ही आई थी | क्या माल था मेरा तो देखते ही लंड भन्ना गया | उसने मुझे देखा और कहा तुमने ऐसा क्यों किया बोलो कितने पैसे चाहिए |

मैं भी इतनी आसानी से मानने वालो में से नहीं था मैंने कहा मैडम आप पहली बार आयी है ज़रा आराम से बैठ जाइये | बताइए क्या लेंगी आप गरम या ठंडा तो उसने कहा बकवास बंद करो और यह बताओ चाहते क्या हो | मैंने कहा सर आपसे क्या चाहते है वो समझ गयी और कहा की ये क्या कह रहे हो तुम | मैंने कहा वही जो आपने सुना तो उन्होंने कहा की नहीं मैं ऐसा नहीं कर सकती मैं एक इज्ज़तदार लड़की हूँ | मैंने कहा इज्ज़त तो आपकी तभी उतर गयी थी जब मैंने आपको उस ऐय्याश सर के साथ किस करते देखा था | मैंने उनसे बस एक सवाल पुछा “जो लड़के आपको सच में पसन्द करते हैं उन्हें आप किनारे कर देती हैं पर जो लोग गलत है उनसे एक पल में घुल मिल जातीं हैं ऐसा क्यों” ? वो मेरे सवाल से दंग रह गयी और कहा क्या तुम मुझे वो सच्चा प्यार दे सकते हो | मैंने कहा अगर आप चाहो तो मुझसे अच्छा और इमानदार लड़का आपको कोई दूसरा नहीं मिलेगा |

मैडम ने मुझे कहा की केसे यकीन करूँ कि तुम मुझे धोखा नहीं दोगे मैंने कहा मैडम अजमा के देख लो अगर कभी गलत निकल जाऊं तो भरे बज्ज़र में नंगा करके मारना मुझे | वो मेरे पास आई और मुझे कहा की चलो आकाश अब तैयार हो जाओ मेरे नखरे उठाने के लिए | में डर गया क्यूंकि लड़की मतलब खर्चा |

पर मैंने भी ज्यादा सोचा न समझा बस उससे अपने प्यार का इकरार कर दिया और वो मेरे पास आई और मुझे गालो पे किस किया और कहा कल रेस जीते तो यही होंटों पर मिलेगी | मैं भी जोश में था और मुझे पता चल गया था कि यार अगर जीता तो बल्ले बल्ले | मैंने उस दिन अपना पूरा जोश लगा दिया और जीत गया | मैडम आई और मुझसे कहा अपना इनाम लेने के लिए रूम में आ जाना | मैं जेसे ही रूम में गया उसने मुझसे कहा की वाह मेरे शेर मेरे प्यार का इतना असर | उसने मुझे अपनी बाहों में भरा और मुझे होंटों पे किस करने लगी | मुझे अपनी पूरी जिंदगी उसके साथ दिख रही थी | एक सबसे बड़ा मुद्दा मेरे पास यह था की वो मुझसे बस दो साल बड़ी थी | मुझे बस अब उससे शादी करनी थी और मुझे तो नौकरी की टेंशन भी नहीं मैंने खुद अपनी कंपनी बना ली थी और कमाता भी अच्छा था |

मैंने अपने मम्मी पापा से बात की और उन्होए कहा तू देख ले और फिर हम दोनों की फैमिलीज़ एक दूसरे से मिली और सब सेट हो गया | फिर मैंने उससे गन्दी गन्दी बातें करना शुरू किया | मैंने कहा जब तुम दौड़ती हो त्युमहरे दूध हिलते हैं तो मेरा लंड खड़ा हो जाता है | उसने अच्छा बच्चू अब रुक मैं तेरे लंड का बराबर ध्यान रखूंगी | इतना ही सुनना था बस मुझे ओए मेरा लंड एकदम से खड़ा हो गया | अब बारी थी हमारी चुदाई की और मैंने ये सब सोचकर न जाने कितनी बार मुठ मारा होगा |

अब एक दिन मुहे मौका मिला की मैं उसे मन भर के चोद लू और मैं बिलकुल तैयार होकर गया था | सबसे पहले तो हम दोनों ने बातें की और और फिर मैंने कहा की मेरी बीवी को मुझे अपना लंड दिखाना है | वो बोली दिखाओ जान दिखाओ अब कैसे शर्म अब तो आप मेरे पति है | मैंने तुरंत अपनी चड्डी उतारी और अपना बड़ा लंड उसके हांथों में रख दिया | उसके तो होश ही उड़ त्गाये थे मेरा बड़ा लंड देखकर | मैंने कहा अब इससे खेलो तो उसने कहा कैसे खेलते हैं इससे | मैंने कहा इसे अपने मुह में लो और चूसना शुरू करो | उसने तुरंत मेरी बात मानी और वैसा ही करने लगी जैसा मैंने कहा था | क्या बताऊ जब उसके मुह की गर्माहट मेरे लंड पर लगी तो मुझे स्वर्ग नज़र अ गया |

अब तो मैंने कहा चूसो और जोर से चूसो और ऐसा बोलते बोलते मैंने उसकी टी शर्ट उतार दी और ब्रा के ऊपर से ही उसके दूध दबाने लगा | वो भी उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म करके मेरा लंड चूस रही थी और मुझे भी बड़ा मस्त लग रहा था फिर मैं उसके मुह में झड़ गया और उसने कहा ये क्या है ? तो मैंने कहा अपने बच्चे हैं पर फिलहाल थूक दो बाहर | तो उसने मेरा मुठ बाहर थूक दिया और फिर मैंने उसे नंगा किया | क्या मस्त चूत थी उसकी फूली हुई बिलकुल मालपुए जैसी | मैंने देरी न करते हुए उसकी चूत में अपना मुह डाल दिया और मस्त चाटने लगा | उसकी सिस्कारियां निकल रही थी और आह्हह्हह्हह्हह आह्हह्हह्हह्हह की आवाजें पूरे घर में अ रही थी |

मुझे अब रहा नहीं जा रहा था और उससे भी मैंने कहा सुनो अब दर्द होगा पर प्लीज झेल लेना | उसने कहा ठीक है | क्या बताऊ क्या टाइट चूत थी उसकी उसके आंसू निकल गए पर वो चुप रही और मैं धीरे धीरे उसे चोदने लगा | उसकी चूत के अन्दर फिर बाहर और एसा करते करते मैंने उसके 15 मिनट तक चोदा | फिर मैंने उसकी गांड भी मारी और आधे घंटे तक मारता रहा | जब हम थक के बगल में लेटे तो मैंने उसे गले लगे और कहा देखो नहीं दिया न धोखा और वो मुझसे चिपक के ख़ुशी में रोने लगी |

error: