कुंवारी बहन ने खूब मजा दिया

kunwari ladki हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम अमृत है, में शिमला का रहने वाला हूँ। आज में आपको एक सेक्स स्टोरी सुनाने जा रहा हूँ। यह स्टोरी मेरी और मेरी रियल बहन की है। में 23 साल का हूँ और मेरी बहन नम्रता 25 साल की है, मेरी हाईट 5 फुट 11 इंच है और उसकी हाईट 4 फुट 9 इंच है, उसके बूब्स छोटे-छोटे है, लेकिन देखने में बहुत अच्छे है। अब में आपका समय ख़राब ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी शुरू करता हूँ। यह बात आज से करीब 2 साल पहले की है, में उन दिनों पढाई करने के लिए घर से दूर अकेला रूम लेकर रहता था। फिर में घर आया तो माँ ने कहा कि खाना बनाने के लिए अपनी बहन को ले जाओ। तो में पहले तो मना करता रहा कि वो अकेली बोर हो जाएगी, लेकिन माँ नहीं मानी और उसको भेज दिया और फिर हम दोनों आ गये। दोस्तों मेरा रूम छोटा था एक रूम था, किचन और बाथरूम। फिर मैंने सोचा कि वो बोर ना हो इसके लिए एक दोस्त से टीवी माँगकर ले आया और केबल भी लगवा ली। मेरे रूम में एक ही बेड था जिस पर में सोता था।
फिर हम रूम में आए, तो उसने देखा और कहा कि रूम तो अच्छा है, लेकिन छोटा है। तो मैंने कहा कि अब स्टूडेंट्स के लिए यही सही है। फिर में उसको रूम में छोड़कर मार्केट सामान लेने चला गया और फिर सामान लाने के बाद खाना बनाया और वो रूम की सफाई करने लगी। फिर मैंने कहा कि ऐसा करते है में अपना बेड भी जमीन पर लगा देता हूँ। तो तब उसने कहा कि ठीक है, बस फिर बेड रेडी हो गया। फिर रात को खाना खाने के बाद में पढाई करने लगा और वो नॉवेल पढ़ने लगी और बाद में सो गयी थी।
फिर में करीब रात के 1 बजे सोने लगा और लाईट ऑफ करने के लिए उठा तो मैंने उसका चेहरा देखा, जो सोते हुए बहुत अच्छा लग रहा था। तो तभी मेरे मन में ख्याल आया कि उसको चोदने में मज़ा आ जाएगा, लेकिन फिर ख्याल आया कि यह मेरी बहन है, यह गलत बात है और फिर में लाईट बंद करके सोने की कोशिश करने लगा, लेकिन अब मेरे दिल में उसी के ख्याल आ रहे थे और फिर पता नहीं मुझे कब नींद आई? पता ही चला। फिर में सुबह उठा तो, वो बाथरूम में थी। फिर में उठकर बुक खोलकर पढ़ने लगा। फिर थोड़ी देर के बाद वो बाहर आई और मुझे चाय देकर ब्रेकफास्ट बनाने लगी। अब में उसके बूब्स और गांड को देखकर गर्म हो गया था। फिर में उठा और फ्रेश होने के लिए बाथरूम में चला गया।
फिर मैंने डिसाइड किया कि अब में अंडरवेयर नहीं पहनूंगा और उसको सिड्यूस करूँगा और उसके बाद से जब भी वो मेरे सामने आती, तो मेरा लंड खड़ा हो जाता, पता नहीं उसने नोटीस किया या नहीं, लेकिन मुझे बहुत मज़ा आता था। फिर एक दिन हम टी.वी देख रहे थे, जब टी.वी पर मूवी आ रही थी और उसमें कुछ टॉपलेस सीन भी थे। अब में उनको देखकर बहुत गर्म हो गया था और अपना लंड निकालकर मसलने लगा था। तो तभी उसने कहा कि यह मूवी अच्छी नहीं है और टी.वी बंद कर दिया और फिर उसके बाद वो सो गयी और फिर कुछ देर के बाद में भी सो गया। फिर रात में अचानक से मेरी नींद खुली और मुझे मूवी का ख्याल आ गया और मेरा लंड तन गया। फिर मैंने उसकी तरफ देखा तो वो सो रही थी। फिर में उसके नजदीक गया और उसके बूब्स पर अपना एक हाथ रख दिया तो मुझे उसके बूब्स बहुत नर्म लगे, मैंने पहली बार किसी लड़की के बूब्स को टच किया था। अब मुझे बहुत मज़ा आया था।
फिर काफ़ी देर के बाद मैंने उनको मसलना शुरू कर दिया। अब वो बेख़बर होकर सो रही थी, वो हिली तक नहीं थी। फिर उसके बाद मैंने उसकी चूत पर अपना एक हाथ रखा, लेकिन मुझे महसूस कुछ नहीं हो रहा था। तो तभी मेरी हिम्मत थोड़ी बढ़ी तो मैंने उसकी सलवार में अपना एक हाथ डाला, उसने पेंटी पहनी थी और फिर मैंने अपनी एक उंगली उसकी पेंटी में घुसा दी। अब मेरी उंगली उसके प्राइवेट हिस्से को टच करने लगी थी, जो कि ऐसा लग रहा था कि उसने उनको कभी नहीं काटा है। फिर तभी उसकी नींद खुली और उसने मेरा हाथ ज़ोर से निकाल दिया। अब में डर गया था और ऐसा बिहेव करने लगा जैसे गहरी नींद में हूँ। वो तब तो कुछ नहीं बोली। फिर में जब सुबह उठा तो उससे नजरें चुराने लगा और जल्दी से रूम से बाहर चला गया और फिर शाम को ही घर आया।

फिर उसने कहा कि कहाँ गये थे? तो मैंने कहा कि लाइब्रेरी पढ़ने गया था। अब रात को खाना खाने के बाद हम बेड पर बैठ-बैठ यहाँ वहाँ की बातें कर रहे थे। फिर मैंने उससे कहा कि रात के लिए सॉरी। तो तब उसने कहा कि ठीक है, लेकिन यह गलत है, में तुम्हारी वाईफ नहीं हूँ जो ऐसा कर रहे थे। फिर मैंने कहा कि सॉरी, मुझे पता है यह गलत है, लेकिन में क्या करूँ? कभी-कभी हालत बुरी होती है। तो तब वो बोली कि ऐसी बात है तो तुम मास्टरबेट क्यों नहीं करते? तो तब में बोला कि में अपना हाथ यूज कर- करके तंग आ गया हूँ। तो वो हँसने लगी और बोली कि तो तुम क्या चाहते हो? तो मैंने कहा कि में अब कुछ करना चाहता हूँ। तो वो बोली कि तुम अपना हाथ ही यूज करो। तो मैंने कहा कि ओके और फिर मैंने उसके सामने ही अपना लंड निकाल लिया और मुठ मारने लगा। फिर तब वो बोली कि जरा भी कंट्रोल नहीं है क्या? तो में हंसा और अपना काम शुरू रखा।
फिर में उससे बोला कि मेरा एक काम करोगी? तो वो बोली कि क्या? तो मैंने कहा कि क्या तुम यह सब कर दोगी? तो तब वो बोली कि नहीं। तो मैंने कहा कि अच्छा अपने बूब्स तो दिखा दो। तो वो बोली कि नहीं। तो मैंने बहुत रिक्वेस्ट किया, तो उसके बाद वो मान गयी और अपनी शर्ट ऊपर कर दी। अब वाईट ब्रा में उसके बूब्स बहुत अच्छे लग रहे थे। फिर मैंने कहा कि अब अपनी ब्रा भी उतार दो। तो उसने अपनी ब्रा भी उतार दी, उसके बूब्स बहुत छोटे- छोटे थे। अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था। फिर कुछ देर के बाद मैंने कहा कि अपनी सलवार भी खोलो ना। तो तब वो बोली कि तुम तो बहुत बेशर्म हो। तो मैंने कहा कि प्लीज। तो वो बोली कि ओके और फिर उसने अपनी सलवार भी उतार दी। दोस्तों उसकी पेंटी ब्लेक थी और बहुत टाईट थी। अब में मूठ मारना भूल गया था और उसकी पेंटी देखने लगा था। फिर थोड़ी देर के बाद में बोला कि अब अपनी पेंटी भी उतारो ना, मुझे कुछ देखना है। फिर मेरी बहुत कोशिश के बाद उसने अपनी पेंटी भी उतार दी। दोस्तों उसकी चूत बहुत टाईट थी और उस पर बाल भी बहुत थे, उसकी चूत बालों में छुपी हुई थी। फिर मैंने कहा कि क्या तुमने कभी बाल नहीं काटे? तो तब उसने कहा कि बहुत पहले काटे थे। फिर मैंने कहा कि लाओ में काट देता हूँ और फिर में उठकर अपनी शेविंग किट ले आया और उससे बोला कि जरा उठो।
फिर तब वो बोली कि नहीं तुम बहुत बेशर्म हो। तो मैंने कहा कि थोड़ा सा हूँ। अब वो उठने को तैयार नहीं थी। तो तब मैंने कहा कि उठो तो, में और कुछ नहीं करूँगा। तो वो उठी और में उसकी शेविंग में व्यस्त हो गया, अब शेविंग के बाद उसकी चूत और निखर गयी थी। फिर मैंने कहा कि देखो अब कितनी क्लीन लग रही है? तो तब वो बोली कि हाँ। फिर मैंने कहा कि एक काम और करूँ? तो वो बोली कि क्या? तो मैंने कहा कि जरा बेड पर लेटो। तो उसने कहा कि कहीं अंदर डालने का इरादा तो नहीं है ना। तो मैंने कहा कि नहीं अंदर नहीं डालूँगा। तो तब वो बोली कि ठीक है और बेड पर लेट गयी। फिर मैंने उसकी चूत पर अपना एक हाथ रखा और सहलाने लगा था। अब उसने अपनी आँखें बंद कर ली थी। फिर में बहुत देर तक उसकी चूत को सहलाता रहा, उसकी चूत बहुत टाईट थी, ऐसा लगता था कि वो वर्जिन है। फिर थोड़ी देर के बाद मैंने अपनी जीभ उसकी चूत पर रखी और चाटने लगा। तो उसने झट से अपनी आँखें खोली और देखा और बोली कि क्या गंदी चीज कर रहे हो? तो मैंने कहा कि मुझे अच्छा लग रहा है। तो तब उसने कहा कि तुम्हारी मर्ज़ी और फिर मैंने उसकी चूत को चाटना जारी रखा।

फिर कुछ देर के बाद में रुक गया। तो तब वो बोली कि अब क्या हुआ? तो मैंने कहा कि अब बस, शायद अब उसको भी मज़ा आने लगा था। तो तभी वो बोली कि रूको मत, करते रहो। तो मैंने कहा कि पहले तुम यही सब मेरे साथ करो। फिर थोड़ी देर तक मनाने के बाद वो तैयार हो गयी और मेरे लंड को अपने एक हाथ में लेकर सहलाने लगी। फिर तब मैंने कहा कि इसको अपने मुँह में डालो। तो उसने डरते- डरते मेरे लंड को अपने मुँह में लिया और चाटने लगी। अब मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था। फिर थोड़ी देर के बाद मैंने कहा कि अब रुक जाओ। तो वो रुक गयी और तभी मेरा लंड झड़ गया और में बैठ गया। फिर तभी वो बोली कि अब तुम मुझे करो और फिर में उसकी चूत को चाटने लगा। तो लगभग 10 मिनट के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और उससे बोला कि क्या में अंदर डालू दूँ?
फिर वो मना करती रही, लेकिन मैंने उसको अनसुना कर दिया और अपना लंड उसकी चूत पर रखा और अंदर डालने की कोशिश करने लगा था, उसकी चूत बहुत टाईट थी। अब मेरा लंड उसकी चूत में अंदर नहीं जा रहा था और फिर बहुत कोशिश के बाद थोड़ा सा अंदर चला गया। फिर तभी वो बोली कि बहुत दर्द हो रहा है। तो मैंने कहा कि थोड़ी देर रुक जाओ और फिर थोड़ी देर के बाद मैंने एक झटका दिया तो मेरा आधा लंड अंदर चला गया। तो वो ज़ोर से चीखने लगी और बोली कि बहुत दर्द हो रहा है। तो मैंने नीचे देखा कि उसकी चूत में से खून निकल रहा था।
फिर मैंने सोचा कि अगर अभी उसको बता दिया, तो वो डर जाएगी, तो में थोड़ी देर रुक गया और उसके बाद फिर शुरू हो गया। अब हम दोनों बहुत मज़ा आने लगा था, शायद उसका दर्द कम हो गया था। फिर थोड़ी देर के बाद में शांत हो गया और अब वो भी निढाल हो गयी थी। फिर में उठा और बाथरूम में चला गया और अपना लंड धोने के बाद वापस रूम में आया, तो वो अभी भी बेड पर थी। फिर मैंने उससे कहा कि जाओ इसको धोकर आओ। तो वो जैसे ही उठी तो उसने बेड पर खून देखा और बोली कि यह क्या है? तो मैंने कहा कि पहली बार यह होता है और फिर उसके बाद वो वॉशरूम से बाहर आई और बेडशीट चेंज की और फिर हम दोनों चिपककर सो गये। अब उसके बाद से हम रोज चुदाई करते है, अब वो मुझे बहुत मज़े देती है, अब हम दोनों बहुत खुश है और बहुत मजा करते है ।।
धन्यवाद