इतनी खूबसूरत लेडी

hindi sex stories, desi kahani हेल्लो दोस्तों मेरा नाम प्रदीप हे. मे पहले भी अपनी रियल स्टोरी लिख चुका हूँ. तो मेरी पहली रियल स्टोरी पढ के एक फीमेल रीडर ने मुझे ईमेल किया की मे आपसे मिलना चाहती हूँ क्या आप मुझसे मिल सकते हैं मैने अपने ईमेल मे रिप्लाइ दिया की आप जब चाहे तब मुझसे मिल सकते हैं. उस रीडर ने मुझसे मेरा कॉंटॅक्ट
नंबर माँगा तो मैने अपना कॉंटॅक्ट नंबर ईमेल से उसे दे दिया अब उसका मुझे कॉल आया और मुझे राजकोट(गुजरात) के मार्केट मैं उसने मुझे बुलाया की आप उस जगह पर आ जाओ मैं वहाँ आप से मिलती हूँ और तभी आपको मैं अपने घर लेकर जांउगी..।
दोस्तो अगले दिन मैं उस रीडर की बताई हुई जगह पर आ गया और वो मुझसे मिलने आई अपने दिए हुए टाइम पर. मुझे उसको देखते ही अच्छा लगा क्योंकि वो लेडी इतनी खूबसूरत थी की मैं उसे देखते ही रह गया. मन मे सोचने लगा की कब मुझे ये चोदने के लिय मिले मेरा 7 इंच का लंड उसे देख कर ज़ोर मारने लगा था लेकिन किसी तरह से मैने अपने लंड को कंट्रोल किया। उसने मुझे अपनी गाड़ी मे बिठाया और अपने घर को ले गयी जो की एक खूबसूरत अपार्टमेंट की 2nd फ्लोर पर उसका घर था. मुझको उसने अपने ड्राइंग रूम मे बिठाया और कहने लगी क्या लोगे ठंडा या गर्म तो मैने कहा की कुछ नही तो उसने जबाब दिया की नही यार कुछ तो लेना पड़ेगा और तभी किचन के अंदर गयी और चाय बना के लाई एक कप मेरे लिये और एक कप अपने लिये।
हम दोनो सोफे पर बैठ कर बातें करने लगे और उसने कहा की देखो प्रदीप मेरे पति ज़्यादातर टाइम घर से ही बाहर रहते हैं क्योंकि उनका इस तरह का बिजनेस हे जो गुजरात से बाहर ही रहते हैं। उसने कहा की हमारी शादी को 8 साल हो गये लेकिन अभी कोई बच्चा नही हुआ है काफ़ी इलाज कराया है लेकिन सब बेकार। डॉक्टर कहते हैं की आपके पति पिता नही बन सकते। तो मैने कहा की आप बताएँ की मे आपकी क्या मदद कर सकता हूँ.. उस फीमेल का नाम सुमन है ( बदला हुआ नाम)। सुमन ने मुझ से कहा की आप मेरे साथ सेक्स करके मेरे बच्चा पैदा कर दो मैं आपका जिंदगी बर एहसान नही भूलूंगी… तो मेने कहा की कोई बात नही में आपकी हर मदद करने को तेयार हूँ.. उसके बाद उसने होटल से खाना मंगवाया और हमने खाना खाया और वो मुझे अपने बेडरूम मे ले गयी और हम दोनो सुमन के बेड पर लेट गये और पहले मैने उसको किस किया और उसके लिप्स चूसने लगा और वो मेरे लंड को पकड़ के सहलाने लगी अब मेरा लंड तन कर खड़ा हो गया।
मैने उसकी साड़ी को उतारा फिर पर पेटीकोट को अब वो ब्रा और पैंटी मे थी जो बेहद खूबसूरत लग रही थी उसका शरीर गठीला था और बड़े बड़े बोब्स थे और चूतडो की बात ही मत पूछो क्या गजब के चूतड़ हैं सुमन के मेरा लंड उसको नंगी देख कर तन कर खड़ा हो चुका था अब वो मेरे लंड से खेल रही थी अपने हाथों मैं लेकर और मैं उसकी ब्रा और पैंटी उतार कर अलग कर चुका था और ज़ोर ज़ोर से उसके बोब्स को चूस रहा था और दबा भी रहा था उसे मज़ा आ रहा था और ज़ोर ज़ोर से सिसकारी भर रही थी और आअहह उू उऊः की सिसकारी मार रही थी. अब वो मेरे लंड को चूस रही थी अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था मुझे तो जन्नत ही मिल गयी थी।
मैने सपने मैं भी नही सोचा था की इतनी सुंदर औरत मुझे चोदने को मिलेगी। अब हम 69 की पोज़िशन मैं आ चुके थे वो मेरे लंड को चूस रही थी और मैं उसकी चूत मैं अपनी जीभ डाल कर जीभ से चुदाई कर रहा था। अब उसे और ही मज़ा आ रहा था और कहने लगी की प्रदीप ज़ोर से चोदो मजा आ रहा है… अब वो काफ़ी गर्म हो चुकी थी। अब सुमन ने कहा प्रदीप आप मेरे उपर आ जाओ सीधे होकर मे अब नही रह सकती अब मेरी चूत मैं अपना लंड डालो ना… मैं अब सीधा होकर उसके उपर आ गया और अपना 8 इंच का लंड उसकी चूत मैं डालने लगा और एक ज़ोर दार धक्का लगाया तो उसकी चीख निकल गयी. आआहह उईईई माअरर्र्ररर गाइिईई प्रदीप धीरे से दर्द हो रहा है.. उसकी चूत इतनी टाइट थी की मैने सोचा भी नही था की इतनी टाइट होगी।
मैं थोड़ी देर के लिय रुका रहा उसकी चूत मे लंड डाल कर थोड़ी देर के बाद अब मैने दूसरा धक्का मारा तो मेरा लंड उसकी चूत मैं 6 इंच जा चुका था अब उसने फिर किलकारी मारी आअहह उईईइ मरररर गई क्या कर रहे हो रुक जाओ ना..
अब मैं थोड़ी देर और रुका रहा थोड़ी देर के बाद फिर मैने एक और धक्का लगाया खींच के अब मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी चूत मैं समा गया अब उसने बहुत ही ज़ोर की चीख मारी उउउ इईई मररर गाइिईई आ उई मा.. और मुझे ज़ोर से नोचने लगी हट जाओ ना.. मे मर जाउंगी क्या कर रहे हो मार ही डालोगे बहुत बड़ा और मोटा लंड है आपका.. अब मैं थोड़ी देर रुक गया उसकी चूत मैं लंड को डाल के और उसके उपर ही लेटा रहा अब थोड़ी देर के बाद अब वो पूरी गर्म हो चुकी थी उसकी चूत मेरे लंड को गर्म सी लगने लगी अब कहने लगी प्रदीप अब चोदो धीरे धीरे से चोदना शुरू करो मज़ा आ रहा है.. लेकिन धीरे धीरे.. मैने अब उसको चोदना शुरू कर दिया और उसको मज़ा आने लगा तो उसने कहा प्रदीप अब अपनी स्पीड बड़ा दो बहुत मज़ा आ रहा है चोदो मुझे ज़ोर ज़ोर से और ज़ोर फाड़ दो मेरी इस चूत को बहुत दिनो से प्यासी है.. यह चूत और मैं सिर्फ़ तुम्हारी ही रहेंगी। अब खूब चोदो मेरी इस चूत को मैदान उड़ा दो इस चूत का।
अब वो झड़ने वाली थी और अपने चुतड उठा उठा की साथ दे रही थी करीब 20-25 मिनिट के बाद वो झड़ गयी अब मुझे मज़ा आ रहा था मैने उसके बोब्स को अपने मूह मैं लेकर और एक बोब्स को हाथ से दबाते हुए ज़ोर ज़ोर से चोद रहा था की 5 मिनिट के बाद मैं भी झड़ गया। और मेरा सारा लंड का पानी उसकी चूत मैं चला गया अब मैं उसकी चूत मैं ही लंड को डाले हुए उसी के उपर लेटा रहा करीब 10 मिनिट तक वो भी मुझे अपने उपर लेटते हुए मुझे चूम रही थी और मेरे बालों को सहला रही थी और किस कर रही थी. अब उसके बाद उसने मेरे लंड को मुहं मे लेकर साफ़ किया. और वही बेड पर लेट गये।
अब रात होने वाली थी उसने कहा प्रदीप अब रात होने वाली है आप आज यहीं सो जाओ खाना यहीं मंगा लेंगे उसने खाना मंगवाया और हम दोनो ने डिनर किया साथ साथ और उससी बेड रूम मे जाकर रात मैं करीब 5 बार फिर चोदा कभी डोगी स्टाइल मैं कभी अपने उपर लिटा कर और एक बार उसकी गांड को भी चोदा लेकिन गांड मैं मुझे इतना मज़ा नही आया। उसकी चूत इतनी टाइट है की मुझे उसकी चूत ही चोदने मे मज़ा आता है और अब तक उसकी दो रात और 3 दिनों से चुदाई कर रहा हूँ। उसने कहा है की आपको मुझे रोजाना चोदना है जब तक बच्चा पैदा नही होता और मैं उसे रोज ही चोदता रहूँगा।
धन्यवाद । ।