गुंडे की माल बीवी के चूत दर्शन भाग – 2

Gunde ki maal biwi ke chut darshan part 2:

हेल्लो दोस्तों | अक्की आज फिर से हाजिर है आपके सामने और मैं आज अपनी अधूरी कहाँ को पूरा करने आया हूँ | जी हाँ मेरी पड़ोसन जो कि मुझसे पट गयी थी और मैंने उसके सामने मुठ भी मार लिया था वो अब मेरी चुदाई के लिए बेक़रार थी | नै मुझे इसके बारे में नहीं पता पर मैं उसे चोदने के लिए ज़रूर बेक़रार था | अब तो मुझसे रहा भी नहीं जाता था और मैं उसके घर जाकर उसकी कमर उसकी नाभि और पेट पर अपना मुठ गिरा दिया करता था | एक दिन की बात है उसने अपना ब्लाउज भी ऊपर कर दिया था और मैं अपना लंड उसके ऊपर रगड़ रहा था | तभी हम दोनों एक साथ बोले चलो न अब चुदाई करते हैं |  तो मैंने कहा की रानी इतनी भी क्या जल्दी है अभी तो शुरुआत भी ठीक से नहीं हुई है | तब उसने कही की अब क्या चाहते हो तुम मेरे राजा तो मैंने कहा की रुको अभी बताता हूँ | मैं उसके पीछे जा कर उसकी कमर पकड़ ली और उसकी गांड में अपना लंड सटा रहा था और उसकी गर्दन पर चूमे जा रहा था और चाटे जा रहा था | वो ऊउम्म्म्ह ऊउम्ह अहहहहः ऊउम्म्म्ह ऊउम्म्ह कर रही थी फिर मैं पीछे से ही उसके दूध दबाने लगा और  जोर जोर से उसके दूध मसलने लगा | वो जोर जोर से अहहहः अहहहः अहहः अहहहः अहहः औईइम्म्ह्ह कर रही थी और बोल रही थी की जल्दी चोदो ना राजा मेरी चूत गीली हो गई है | अब और ना तड़पाओ फिर मैंने कहा जान रुको न थोडा और मैं उसके आगे जा कर उसके दूध नंगे कर दिए | उन दोनों परिंदों को आजाद करके उन्हें मसल मसल के चूस रहा था और वो ऊउम्म्ह्ह अहहहहः ऊउम्म हहहहः अहहहः ऊउम्म्न्न हहहः अहहहा अहहहः अहहः करे जा रही थी | फिर मैंने दूध पीते पीठे उसकी साडी में अपना हाँथ घुसाया और उसकी चूत में ऊँगली डाल रहा था | मेरी पूरी ऊँगली गीली हो गई थी उसके चूत के रस से फिर मैंने उसकी साडी उतार दी  और नीचे बैठ के उसकी चूत चाटने लगा | उसकी गांड को भी दबा रहा था और मजे से उसकी चूत चाटे जा रहा था और वो मेरा सर पकड़ के अहहाहा अहहहा अहः अबूम्म्म्मह अहहहा हाहा आहाआ अहा आहा आहा आ कर रही थी | उसे बहुत मजा आ रही थी अपनी चूत चुसाई में और मुझे ऊसकी चूत चूसने में | फिर मैं खड़ा हुआ और उसने मेरा लंड पकड के तुरंत अपने मुंह में डाल लिया और 20 मिनट तक चूसते रही | ये बात मुझे पता था की उसे मेरा बड़ा लंड बहुत पसंद है | फिर मैंने उसे बिस्तर पर लेटाया और उसके तुरंत ही अपना लंड पेल दिया उसकी बुर में और वो बड़े ही आनन्द के साथ चुदवा रही थी | बोल रही थी हाए क्या लंड है रे तेरा अहहः अहहः अहहः आहा  आहा हा ह अह अह अह अह हा मजा आया गया तेरा लंड लेने में

अहहहः अहहहा अहाहाहा आहाहाहा अहहः अहबहः बड़े दिनों बाद मिला है ऐसा लंड हह्हः अहहः अहहहः अहाहा अहः ह आज तो मैं जम कर चुद्वौंगी | अहहहा अहहहा अह्हह्हाहा अहहः अहः चोदो मुझे फाड़ दो मेरी फुद्दी को

मैं भी बोल रहा था हाँ मेरी रानी तेर चूत फाड़ के भोसड़ा बनाऊंगा मुझे भी बड़े दिनों बाद टाइट चूत मिली है | तेरी तो गांड भी मरूँगा और तुझे अपने बच्चे की माँ बनाऊंगा |

तब उसने बोली मादरचोद रंडी की औलाद बस बोलते ही रहेगा की चोदेगा भी | तेरी बहन की चूत रंडी तो मैं तुझे बनाऊंगा और बीच बाजार में चोदूंगा |

बहुत चुदवाने का शौक हैं न तुझे |

और मैं जोर जोर से धक्के लगाये जा रहा था 30 मिनट की धुआंधार चुदाई के बाद मैं उसकी चूत पर ही अपना वीर्य झड़ा दिया था उसके २० मिनट बाद उसने फिर से मेरा लंड खड़ा कर दिया था मैं फिर से जोश में आ गया था और फिर से मैंने उसे चोदा उस दिन मैंने उसे ४ बार चोदा था |

हम दोनो ही थक चुके थे और चूदाई करने का मन बिकुल भी नहीं था | फिर मैंने कहा यारा बड़ा माजा आया तेरी चूत को फाड़ने में और अब आगे भी चोदुंगा तुझे | उसने कहा तेरी बीवी को पता चल गया तो जानता है न क्या होगा | मैंने कहा अगर तेरे पति को पता चला तो जानती है न क्या होगा | तो उसने मुझसे कहह की चलो न कुछ ऐसा करिएँ जिससे किसी को पता भी न चले और हमारा काम भी होता रहे | मैंने कहा बात तो तूने सही कही है पर देखना पड़ेगा सब | अब ऐसे ही दिन बीतने लगे और मेरी और उसकी चुदाई परवान पर चढ़ने लगी | एक दिन तो मैंने अपनी की चूत मारी और दो घनते बाद उसकी भी चूत मारी | मुझ्हे तो बड़ा मज़ा आया रहा था | पर ये मज़े ज्यादा दिन का नहीं था क्यूंकि वो मेरे बच्चे की माँ बनने वाली थी | अब हुआ ये की एक दिन मैं उसकी चूत छांट रहा था और और वो उम्म्म्म्म ऊओह्हह्ह आअह्ह्ह्ह आह्हह्हह्हह्हह और कर बोल रही थी | उतने में ही उसके दरवाज़े पर दस्तक हुयी और आवाज़ आई क्या हो रहा अन्दर बहार निकल मादरचोद | मैंने भी तुरंत कपडे पहने और उसने कहा मेरे पति आ गये हैं अब तुम भागो | मैं छत के ऊपर से अपने घर चला गया | एक तरफ उसका पति था और दुसरे तरफ मेरी बीवी | मैंने बीवी से कहा सुनो वो मैं घर जल्दी आ गया था इसलिए तुम्हे बिना बताये ऊपर चला गया | मेरी बीवी को मुझपर शक नहीं हुआ | फिर अगले दिन वो और उसका पति मेरे घर आये और हम सब ने खाना खाया और उसने कहा मेरी बीवी ने आप लोगों की बहुत तारीफ की | आप लोगो का शुक्रिया इस हालत में मेरी बीवी का ख्याल रखने के लिए | उसका पति फोन आने पर बाहर गया और मेरी बीवी अन्दर | मैंने कहा ये क्या था तो उसने कहा मेरा पति नौ महीने बाद आया है तो उसे लग रहा है की यह उसका बच्चा है | मेरी जान में जान आई पर मुझे नहीं पता था की वो तो साला गुंडा है | पहली बार एक वकील ने अपने दिमाग से नहीं लंड से काम लिया था |

 

फिर उसका पति एक दिन के लिए बाहर गया और हम दोनों को बेवकूफ बनाया | मैं उसके जाने के बाद उसके घर गया और कहा की चलो यार अपनी गांड खोलो आज तो मुठ की बारिश कर दूंगा | वो भी पूरी नंगी हो गयी और मैं उसे चूमना शुरू किया | फिर मैंने उसके दूध बबये तो मैंने देखा की उनसे दूध निकल रहा है और मैं सारा पी गया | उसके बाद मैंने उसके फूले हुए पेट पर अपना लंड रखा और नाभि पर रगड़ने लगा | जैसे ही मैंने उसकी गांड में लंड डालने के लिए उसे झुकाया पीछे से उसके पति ने मेरी गर्दन पर बन्दूक टिका दी | मेरी गांड से टट्टी निकलने वाली थी पर मैंने उसे रोक लिया | उसके पति ने कहा मैंने तुम मादरचोदों को उल्लू बनाया | मैं कही नहीं गया था मुझे देखना था ये बच्चा किसका है ? अब उसने कहा बहुत शौक है न तुझे गांड मारने का अब रुक | वो अन्दर से एक डंडा निकाल कर लाया और उसपे खूब तेल लगाया | फिर उसने अपनी बीवी से कहा की डाल इसकी गांड में उसने भी डरते हुए मेरी गांड में डंडा डाला | तब उसके पति ने कहा मादरचोद मरवाने तो बड़ा मज़ा आता है अब डाल न | तो वो रोने लगी और किनारे कड़ी हो गयी | उसने पूरा डंडा मेरी गांडमें पेल दिया और मेरे सातों सुर मुह से निकल गये | अब मैंने आअह्ह्ह्ह ऊऊओह्हह्हह बहनचोद निकल साले बोलना शुरू कर दिया |

वो और जोर से डंडा अन्दर बाहर करने लगा और मैं ऊऊऊऊईईईईइमा ऊऊऊऊऊ गांड फट गयी गांड फट गयी कहने लगा | उसने एक घंटे तक मेरी गांड मारी | फिर उसने अपनी बीवी को बुलाया और कहा कि चल इसका लंड चूसना  शुरू कर और उसने चूसना चालू कर दिया | उसने मेरा लंड तीन घंटे तक चुस्वाया और मैं 7 बार झाड़ा अब तो मेरी हालत अधमरे इंसान जेसी हो गयी थी | मुझे पता चल गया ठा की ये साला जानता था की ये बच्चा इसका नहीं है | फिर उसने कहा देखो मैं रहता जेल में हूँ पर मेरी नज़र मेरे घर पर हमेशा रहती है | अब उठ मादरचोद चोद मेरी बीवी को और निकाल उसका पानी | मैंने कहा माफ़ कर दे यार | उसने कहा माफ़ी तो अब तेरी बीवी ही तुझे देगी | अब मेरी बीवी भी सामने आई और कहा देखो इस गुंडे ने ईमान दिखाते हुए मेरे साथ कुछ नहीं किया और तुम !!!!! दूर चले जाओ मेरी नज़रों से फिर उसने कहा भाभी नहीं गलतियां होती हैं पर ये गलती कुछ बड़ी थी पर इसकी सजा इन दोनों मिल गयी है | अब उस बच्चे को आप पालो वो आपका है | फिर मैं वह से उठ कर आ गया और मुझे समझ आ गया था कि दुसरे की औरत पर हाथ डालने का नतीजा क्या होता है | फिर मैंने अपनी बीवी को मनाया और हमलोगों ने वो शहर छिड़ दिया और दूसरी जगह रहने लगे | आज मैं ख्हुश तो हूँ पर दिल में अजीब सा तो०ओफ़न अत है जब भी वो मंज़र मेरी आन्ज्खों के सामने आता है | मुझे यही लगता है ” साला दो इंच का छेद और दो ही मिनट का मज़ा पर एक बूँद भी टपका तो हो गयी नौ महीने की सजा” | पर अब सब ठीक है और उस बच्चे का भी मैं ही ख्याल रखता हूँ |