देशी भाभी जमकर खूब चुदी

indian bhabhi हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम आकाश है, में 28 साल का हूँ और में लखनऊ में रहता हूँ, मेरी हाईट 5 फुट 11 इंच है। यह घटना आज से 5 महीने पहले हुई थी, जब हमारी कॉलोनी में एक भाभी रहने के लिए आई थी। भाभी तो पूछो मत, मादकता उनके बदन में कूट-कूट के भरी थी, उनकी चूची 38D, कमर 32 और उनकी 40 साईज़ की गांड तो क़यामत थी। वो जब चलती थी, तो क़यामत लगती थी। उनके आने के कुछ दिनों में उनकी दोस्ती हमारे घर के मेंबर्स से हो गयी थी। भाभी बहुत चंचल स्वभाव की थी, उनकी उम्र यही कोई 35 साल के आस पास थी। अब वो धीरे-धीरे हमसे से भी खूब बातें करने लगी थी, क्योंकि में उनके कंप्यूटर को ठीक कर देता था, तो वो मुझसे काफी करीब थी। फिर एक बार उनके कंप्यूटर में कुछ खराबी आ गयी थी। फिर वो मम्मी से बोली कि आकाश से कहकर मेरा कंप्यूटर ठीक करवा दो। फिर में दोपहर को उनके घर गया, तो वो बड़ी सेक्सी नाईट गाउन पहनकर घर पर थी और फिर वो मुझे अपने कंप्यूटर वाले रूम में ले गयी।
अब में उनके कंम्पूटर को ठीक करने लगा था। अब उसको फॉर्मॅट करना था, तो तब मैंने भाभी जी से कहा कि भाभी जी आपकी कोई जरुरी फाईल हो, तो बैकअप लेलो, सिस्टम फोर्मेट करना पड़ेगा। फिर वो बोली कि कुछ पर्सनल फाईल है, तुम हटो तो में बैकअप ले लूँ। अब में कुर्सी से उठकर खड़ा हो गया था और अब वो अपनी पर्सनल फाईल्स का बैकअप ले रही थी। उसमें बहुत सारी सेक्स स्टोरी और पॉर्न फोटो थी, जो गलती से खुल गयी थी। फिर मैंने उनसे कहा कि भाभी अगर ऐसी फाईल्स है तो आप बैकअप रहने दो, में आपको ढेर सारी दे दूँगा। फिर वो बोली कि ठीक है और कंप्यूटर से हट गयी। तभी मैंने पूछा कि भाभी भैया कहाँ है? तो तब वो बोली कि ना जाने कहाँ गये? उनके होने और ना होने से कोई फर्क नहीं पड़ता, तुम कंप्यूटर ठीक करो।

फिर मैंने कंप्यूटर को फॉर्मॅट करके लोडिंग पर लगा दिया और भाभी से बोला कि में अभी घर से आपके लिए कुछ फाईल्स लेकर आता हूँ। फिर वो बोली कि अरे इतनी क्या जल्दी है? बाद में दे देना। फिर मैंने कहा कि अरे भाभी आप देखो, मुझे अच्छा लगेगा कम से कम मेरा कलेक्शन किसी के काम तो आएगा और यह कहकर में घर से अपना डी.वी.डी का बॉक्स ले आया और उन्हें दे दिया कि आप देखो और जब देख लो तो में और दे दूँगा। फिर वो बोली कि ठीक है और फिर उसे अलमारी में रख दिया। फिर मैंने उनका कंप्यूटर ठीक कर दिया और चला गया था। फिर अगले दिन वो मेरे घर आई और मुझसे बोली कि उसमें कुछ फाईल खुल नहीं रही है।
अब में समझ गया था कि उसमें कुछ मोबाईल वाली फाईल थी, जो अलग मीडीया प्लेयर पर खुलनी थी, तो तब में मीडीया प्लेयर लेकर उनके घर गया और इनस्टॉल करके जाने लगा। फिर वो बोली कि इसे ऑपरेट कैसे करते है? फिर मैंने बोला कि भाभी सेक्स क्लिप है, में आपके सामने कैसे ऑपरेट कर पाऊंगा? तो तब वो बोली कि करो, अब हम दोस्त है और अब तुम मुझे अल्का कहकर बुलाओ, भाभी तो लोगों के सामने बोला करो। फिर मैंने कहा कि ठीक है और फिर मैंने वो फाईल चालू कर दी। अब भाभी मेरे साथ बैठकर वो फाईल देख रही थी। अब फाईल देखते-देखते में भी उत्तेजित हो गया था, वैसे में तो भाभी को देखकर हमेशा एग्ज़ाइटेड रहता हूँ, लेकिन उनके साथ मूवी देखने में तो मेरी हालत खराब हो गयी थी। अब भाभी मेरी तरफ देखकर मुस्कुरा रही थी और बोली कि कोई मस्त लड़के की मूवी दिखाओ। फिर मैंने पूछा कि भाभी कैसे लड़के की? फिर वो बोली कि अपनी उम्र के लड़के की मूवी दिखाओ। फिर मैंने एक मूवी प्ले कर दी और फिर अल्का भाभी बोली कि आकाश तुम्हारे कोई गर्लफ्रेंड है क्या? तो तब मैंने कहा कि नहीं।

फिर वो बोली कि यह मूवी तुम देखते हो? तो तब मैंने कहा कि हाँ। तो तब वो बोली कि उसके बाद तुम्हारा मन नहीं करता कुछ करने को? फिर मैंने कहा कि करता तो बहुत है, लेकिन कर क्या सकता हूँ? फिर वो बोली कि फिर तुम क्या करते हो? तो तब मैंने शर्म के मारे अपना सर झुका लिया। फिर वो बोली कि शरामाओ नहीं, क्या हाथ लगाते हो? तो तब मैंने कहा कि हाँ। फिर वो बोली कि यह बुरी बात है, इससे तुम में कमज़ोरी आ जाएगी और शादी के बाद तुम्हारी बीवी की हालत मेरी जैसे हो जाएगी। फिर मैंने कहा कि में कुछ समझा नहीं। फिर वो बोली कि मेरे पति भी मेरे साथ कुछ कर नहीं पाते, उन्होंने हाथ से करके अपना सामान खराब कर लिया है और अब वो खड़ा नहीं होता है और मुझे बैंगन या मूली से काम चलाना पड़ता है, अगर तुम्हें जरूरत हो, तो मेरे पास आ जाना, में तुम्हारी मदद कर दूँगी, वैसे भी अब हम दोस्त है और इतना कहकर वो अपनी गांड मटकाती हुई किचन में पानी लेने चली गयी, जिसे में देखकर पागल हो रहा था।

फिर वो किचन से दो गिलास शरबत लेकर आई और एक मुझे दिया और दूसरा खुद लेकर पीने लगी थी। फिर मैंने पूछा कि भाभी आप मेरी कैसे मदद कर सकती हो? तो तब वो बोली कि कैसी मदद चाहते हो? तो तब मैंने कहा कि भाभी आप बुरा मान जाओगी। फिर वो बोली कि नहीं। फिर मैंने कहा कि भाभी मैंने आज तक कोई लेडी को नंगा रियल में नहीं देखा है, क्या में आपको देख सकता हूँ? फिर वो बोली कि जरूर और खड़ी हो गयी और बोली लो तुम खुद देख लो जैसे देखना हो। फिर मैंने जल्दी से गिलास खत्म किया और उनके पास खड़ा हो गया। फिर उन्होंने खुद ही मेरा हाथ पकड़कर अपनी चूची पर रख दिया और बोली कि यह पसंद है लो दबाओ और मज़ा लो। अब में उनकी चूचियों को दबाने लगा था, उनकी चूचियाँ बड़ी टाईट और मस्त थी। अब मुझे मज़ा आ गया था।
फिर मैंने उनकी नाईटी उठाई और उनकी चिकनी टाँगो को सहलाने लगा था। तब वो मेरे करीब आ गयी और मेरी जीन्स के ऊपर से मेरे लंड को सहलाने लगी थी और बोली कि तुम्हारा लंड कितना बड़ा है? फिर मैंने कहा कि 7 इंच का है। फिर वो बोली कि क्या में देख सकती हूँ? फिर मैंने कहा कि भाभी पहले में आपको देखूँगा, फिर आप मुझे देख लेना। फिर वो बोली कि ठीक है और यह कहकर उन्होंने अपना गाऊन उतार दिया और ब्लेक कलर की ब्रा पेंटी में खड़ी हो गयी थी। अब वो बला की खूबसूरत लग रही थी। फिर में उनको पैर से लेकर सर तक चूमता रहा। अब वो सीईईईईईईईईईई, आहह, आहह की आवाजे कर रही थी। फिर मैंने उनकी ब्रा और पेंटी भी उतार दी, उनके पूरे बदन पर एक भी दाग नहीं था और उनकी चूची जैसे हिमालय पर्वत की तरह सर उठाए खड़ी थी। अब में उन्हें देखकर पागल हो गया था। फिर में उन्हें उनके बेडरूम में ले गया और उनको चूमने और चाटने लगा था।

फिर में उनकी चूत के पास आया और उनकी चूत को चाटने लगा था। फिर उन्होंने मुझे अपने दोनों पैरों से दबा लिया और बोलने लगी कि खूब चाटो मेरे राजा मेरी चूत को, में बहुत प्यासी हूँ, मेरी प्यास बुझा दो और अब में उनकी चूत को चाटने लगा। फिर 5 मिनट के बाद वो मेरे मुँह में ही झड़ गयी और अब में उनकी चूत के अमृत को चाटकर पी गया था। फिर उन्होंने उठकर मेरे सारे कपड़े उतार दिए और मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चाटने लगी थी। फिर उन्होंने पास की टेबल से शहद की बोतल निकाली और मेरे लंड पर डालकर खूब चाटी। फिर मैंने कहा कि अल्का मेरा होने वाला है। फिर उन्होंने कहा कि मेरे मुँह में झड़ो, में तुम्हारा अमृत पीना चाहती हूँ और फिर वो मुझे तब तक चूसती रही, जब तक में उनके मुँह में झड़ नहीं गया।
अब वो मेरा लंड लगातार चूस रही थी, जब तक मेरा लंड दुबारा खड़ा नहीं हो गया। फिर उसके बाद वो बेड पर लेट गयी और मुझे अपने ऊपर ले लिया और मेरे लंड को अपनी चूत में रगड़ने लगी थी। फिर मैंने पूछा कि क्या भाभी में आपको चोद सकता हूँ? फिर वो बोली कि और नहीं तो क्या? तेरा लंड में अपनी चूत पर इसलिए तो घिस रही हूँ, बहनचोद चोद मुझे। फिर मैंने कहा कि भाभी क्या आपको गंदी बात करना पसंद है? फिर वो बोली कि इसी में तो असली चुदाई का मज़ा है, खूब गाली देकर मुझे चोदो और मुझे अपनी रखैल बना ले। फिर मैंने उनकी दोनों टांगे फैलाई और अपना लंड उनकी चूत में डालने लगा। फिर वो चिल्लाने लगी, अरे भोसड़ी के फ्री की चूत समझकर फाड़ने लग गया, अरे मादरचोद आराम से चोद, में कोई भागे थोड़ी जा रही हूँ, मेरी चूत फट रही है, निकाल ले अपना लंड, मुझे नहीं चुदवाना तुझसे, लेकिन मैंने उनकी एक नहीं सुनी और धीरे-धीरे अपना पूरा लंड उनकी चूत में डाल दिया और उनकी चूचियों को पीने लगा था। फिर थोड़ी देर में ही उनका दर्द कम हो गया। अब वो अपनी गांड उछालने लगी थी और मुझसे बोली कि खाली डाले पड़ा रहेगा या मुझे चोदेगा भी।

फिर मैंने अपना लंड निकाला और एक बार में अपना पूरा लंड उनकी चूत में पेल दिया और उन्हें जमकर चोदने लगा था। वो भी बहुत बड़ी चुदक्कड़ थी और अब वो अपनी गांड खूब उछाल-उछालकर चुदवा रही थी और साथ में गालियाँ भी दे रही थी और ज़ोर से चोदने को कह रही थी। फिर मैंने उन्हें 10 मिनट तक खूब जमकर चोदा। अब वो लगातार आहह, आहह, आहह और पेलो, फाड़ दो मेरी चूत को, चिथड़े उड़ा दो, आज इस चूत के, इसने मुझे बड़ा दुख दिया है, आज आकाश इसे मत छोड़ना, इसे फाड़ देना, आहह। अब में झड़ने वाला था। फिर मैंने कहा कि अल्का में झड़ने वाला हूँ। फिर वो बोली कि मेरी चूत में झड़ो, मुझे तुमसे बचा पैदा करना है, तुम्हारे भैया को में संभाल लूँगी, फिलहाल तुम मुझे चोदो और मेरी चूत को अपने पानी से सींच दो। अब में उन्हें चोदते-चोदते उनकी चूत में ही झड़ गया था और उनके ऊपर लेटकर उनको किस करने लगा था। फिर मैंने भाभी से कहा कि भाभी मुझे आपकी गांड बड़ी प्यारी लगती है, क्या में आपकी गांड मार सकता हूँ? फिर वो बोली कि अरे मादरचोद आज चूत दी तो गांड के पीछे पड़ गया, चल कल मेरी गांड भी मार लेना और अब यह शरीर तेरा है, तू जैसे चाहे मुझे चोद सकता है ।।
धन्यवाद