कॉलेज में हुआ प्यार हमने ली उसकी गांड मार

College me hua pyar humne li usaki gaand maar:

मेरी कहानी पढ़ने वाले सब लोगों को मेरा नमस्कार | मेरा नाम है प्रिंस अग्रवाल और मैं अभी इंजीनियरिंग कर रहा हूँ | मैं दिखने में अच्छा हूँ और अमीर भी हूँ | मेरे पापा का लोहे का कारोबार है | मैंने स्कूल में एक लड़की पटाई थी लेकिन उसे चोद नहीं पाया था | मुझे चोदने की चुल्ल मची थी और मैं रंडी चोदना नहीं चाहता था | इसलिए मैंने कॉलेज में एक लड़की पटाई और उसकी गांड मार ली | ये कहानी है कैसे मैंने उसको पटाया और चुदवाने के लिए राज़ी किया | तो ये रही मेरी कहानी |

जैसा कि मैंने आपको बताया कि मैं अमीर हूँ और मैं कॉलेज कार से जाता था | तो बहुत सी लड़कियां मुझसे बात करती थी लेकिन मैं जानता था सब रंडियां है यहाँ वहां मुंह मारती रहती है सब | इसलिए मैं ज्यादा सबको मुंह नहीं लगाता था | मेरी क्लास में एक लड़की थी शिवानी मिश्रा और बहुत ही सीधी साधी लड़की थी | मुझे वो ऐसी लगती थी जैसे कि इसे दुनिया दारी के बारे में कुछ नहीं पता और बहुत नादान है ये | मेरी क्लास में बहुत सी लड़कियां अच्छी दोस्त थीं तो उसकी दोस्त भी मेरी अच्छी दोस्त थी | उसने मेरी उससे जान पहचान कराई | वो मुझसे ज्यादा बात नहीं करती लेकिन मैं फिर भी उसी से बात करना पसंद करता था क्योंकि वो मुझे अच्छी लगती थी |

फिर एक दिन मैंने उससे उसका मोबाइल नंबर माँगा तो उसने मना कर दिया | तो मैंने उसकी सहेली से उसका नंबर लिया और रात को कॉल किया | तो वो पूछने लगी कि तुम्हें मेरा नंबर किसने दिया और क्या काम है तुम्हें ? तो मैंने कहा कि कुछ नहीं बस तुमसे बात करनी थी | वो बोली अच्छा, और क्या बात करनी थी ? तो मैंने कहा बस ऐसे ही, क्या कर रही हो ? तो वो बोली, मेरी क्लास का एक लड़का है उससे बात कर रही हूँ और इतना बोल कर हसने लगी | फिर ऐसे ही हमारी बातें होने लगी और हम बहुत अच्छे दोस्त बन गए | हम दोनों बहुत घूमते थे कभी कभी एक दुसरे का हाँथ पकड़ के बैठे रहते थे | फिर एक बार मैंने उससे कहा कि यार शिवानी मैं तुमसे एक बात कहना चाहता हूँ तो वो बोली कि हाँ बोलो तो मैं अपे प्यार का इज़हार कर दिया |

उसने कहा मैं भी तुम्हें पसंद करती हूँ लेकिन मैं अभी इन सब में पड़ना नहीं चाहती | मैंने कहा कोई प्रॉब्लम है तो मुझे बताओ ? उसने कहा नहीं यार लेकिन इन सब के बारे में मैंने सोचा नहीं | तो मैंने कहा ठीक है सोच लो फिर बताना मुझे | थोड़ी देर बाद मुझे उसका कॉल आया और उसने कहा कि अगर मैं मना कर दूँ तो तुम्हें कैसा लगेगा ? तो मैंने कहा मैं तो मर जाऊंगा | तो उसने कहा ठीक है मैंने तुम्हारी जान बचा ली | मैं समझ गया और कहा, सच में, तो वो बोली, हाँ | मेरे मन में लड्डू फूटने लगे और मैं उसको कहा आई लव यू शिवानी | फिर हमने बहुत देर बाते  की | हम दोनों अगले दिन कॉलेज में मिले तो मैंने उसको गले से लगा लिया तो वो शर्मा गई | फिर हम दोनों यहाँ वहां घूमते रहते थे एक दुसरे का हाँथ पकड़ कर |

फिर एक बार मैंने उसको किस करना चाहा तो उसने मुझे रोक दिया और कहा क्या कर रहा हूँ ? तो मैंने कहा बस तुमसे प्यार कर रहा हूँ | तो वो बोली नहीं अभी नहीं शादी के बाद | मैं हसने लगा और कहा अभी हमारी शादी में बहुत वक़्त है | तो उसने कहा मैं खुद को अपने होने वाले पति के लिए बचा के रखा है | मैंने कहा मैं तो बस किस कर रहा हूँ | तो उसने कहा ठीक है लेकिन सिर्फ किस ही करना | मैंने कहा ठीक है और उसे किस करने लगा | उसने भी किस करने के मज़े लिए और वो भी मेरे होंठों को चूसे जा रही थी | मैंने सोचा कि कुछ और करूँगा तो बुरा न मान जाये इसलिए मैंने और कुछ नहीं किया | फिर जब भी हम मिलते थे तो एक किस तो करते ही थे कभी सिनेमा हॉल में तो कभी सुनसान सड़क पे | ऐसे ही उसका प्यार और मेरी हवस बढती जा रही थी औरे मैं उसे चोदने के सपने देखने लगा |

फिर एक बार हम किस कर रहे थे और किस थोड़ी लम्बी हो गई तो मैंने उसके कमर से हाँथ ऊपर करते हुए उसके दूध पे रख दिए | उसने किस करना छोड के अपने दूध से मेरे हाँथ हटाये और कहा तुमने तो कहा था किस के अलावा कुछ नहीं करोगे | तो मैंने कहा मैं तो दबा रहा था कुछ गलत तो नहीं किया | तो वो बुरा मान गई और उसने कहा कि कुछ दिन बाद तुम्हें सैक्स करना होगा फिर क्या ? तो मैंने कहा बेबी तो इसमें गलत क्या है ? मैं सिर्फ अपना प्यार जाताना चाहता हूँ | तो वो बोली नहीं ये गलत है शादी से पहले ऐसा कुछ नहीं करना चाहिए | तो मैंने कहा बेबी आई एम सॉरी लेकिन मैं अपनी जगाह गलत नही हूँ | फिर उसने कहा कोई बात नहीं लेकिन ऐसा कभी मत करना | फिर मैंने उसको उसके घर छोड़ा और मैं अपने घर चला गया |

फिर रात को हम दोनों बात कर रहे थे तो मैंने कहा तुम चुदना क्यों नहीं चाहती ? क्या तुम्हारे कोई अरमान नहीं है ? उसने कहा नहीं ऐसा नहीं है लेकिन मैं शादी तक वर्जिन रहना चाहती हूँ | मैंने कहा मेरे पास एक आईडिया है जिसमें हम दोनों का भला हो जायेगा | उसने पूछा क्या है वो आईडिया तो मैंने कहा कल मिलो बताता हूँ | तो कल हम दोनों कॉलेज में मिली तो मैंने कहा देखो वर्जिन तो तुम चूत से ही रहोगी लेकिन मैं अगर गांड मार लूँ, तो तुम वर्जिन भी रहोगी और मैं अपना प्यार भी जता सकूँगा तुम्हें | तो वो बोली नहीं मैं नहीं करवाउंगी तो मैंने उसे पकड़ा और उसे किस कर दिया | फिर किस करने के बाद बोला मुझ पर ऐतबार करो तो बोली ठीक है | तो मैंने अपे दोस्तों को फ़ोन लगाया और अच्छी सी होटल के बारे में पता किया और पता चलते ही वहां पहुँच गया |

जैसे ही हम होटल मैं गए और रूम में जा के बैठे तो उसने कहा कि मैंने सुना है कि गांड मरवाने में बहुत दर्द होता है | तो मैंने कहा थोडा सा ही होता है ज्यादा नहीं | तो वो बोली नहीं यार मुझे डर लग रहा है | तो मैंने कहा कोई बात नहीं और उसके पास जा के होंठों पे अपने होंठ रख दिए और उसे किस करने लगा | मुझे उसके किस करने के तरीके से समझ आ रहा था कि वो डर रही है | तो मैंने उसकी कमर को पकड़ के अपने पास खींच लिया | अब उसका डर कम हो गया था तो मैंने उसका टॉप उतरा और उसकी ब्रा खोलके उसके उसके दूध चूसने लगा | जब मैं उसके दूध चूस रहा था तो वो हस्ते हुए बोली हटो गुदगुदी हो रही है | मैं फिर भी उसके दूध चूसता रहा और निप्पलों को दबाता रहा | फिर मैं उठा और उससे कहा कि चलो अब तुम मेरा लंड चुसो तो उसने कहा छी मुझे नहीं आता ये सब | तो मैंने उसको अपने मोबाइल में बी.एफ. दिखाई और कहा ऐसे चूसते है | फिर मैंने अपनी पैन्ट उतारी और उसका हाँथ अपने लंड पे रख दिया | फिर उसने मेरे लंड को ऊपर से चूसा तो मैंने कहा जितना अन्दर तक चूस सकती हो चुसो | तो उसने और ज्यादा मेरे लंड को चुसना शुरू किया और मुझे जन्नत का मज़ा आने लगा |

फिर मैंने उसकी जीन्स उतारी और उसकी पैंटी उतार के उसकी चूत देखी | उसकी चूत में बाल थे लेकिन सिर्फ ऊपर की तरफ | मुझे लग रहा था कि अभी ही मार लूँ लेकिन उसको वर्जिन रहना था तो मैंने उसकी गांड के छेद पे नज़र डाली | मैंने उसके गांड में ऊँगली की तो वो आह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हा ह्ह्ह्ह करने लगी | फिर मैंने अपना लंड उसकी गांड के छेद पे रख के अन्दर करने की कोशिश की तो मेरा लंड अन्दर नहीं जा रहा था | फिर मैंने ज़ोर से झटका मारा तो मेरा लंड थोडा सा अन्दर चला गया और वो चिल्लाने लगी, नहीं बाहर निकालो, और रोने लगी | मैंने अपना लंड उसकी गांड में ही रहने दिया और फिर थोड़ी देर बाद उसकी गांड मारने लगा | उसकी गांड बहुत ज्यादा टाइट थी तो मुझे मारने में बहुत मज़ा आ रहा था | फिर थोड़ी देर बाद मेरा मुट्ठ उसकी गांड में ही झड गया | तो उसने कहा कहीं अब मैं प्रेग्नेंट तो नहीं हो जाउंगी | तो मैंने कहा गांड मारने से कोई प्रेग्नेंट नहीं होता | तो ऐसे मैंने पहली बार चुदाई करना गांड मारने से शुरू किया | फिर मैंने कई बार उसकी गांड मारी लेकिन कभी भी उसकी चूत पे हाँथ नहीं लगाया |