चॉकलेट लंड पर लगाई

sex stories in hindi, desi kahani हैल्लो दोस्तों, आप सभी लंडो और चूतों को मेरे लंड का प्यार भरा प्रणाम। मेरा नाम गौरव है और में पंजाब का रहने वाला हूँ, मेरी उम्र 24 साल है, मेरा लंड 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है। में आज आपको मेरे पहले सेक्स के बारे में बताने जा रहा हूँ। यह बात 6 साल पुरानी है, तब में 12वीं क्लास में था और हम लोग जहाँ रहते है, उसके सामने वाली बिल्डिंग में एक औरत रहने आई थी। उसके पति दुबई में जॉब पर थे और उसके एक लड़की थी, वो लड़की 18 साल की थी। फिर जब मैंने उस लड़की को पहली बार बिल्डिंग के नीचे देखा तो मेरे होश ही उड़ गये। वो दुकान में चॉकलेट लेने आई थी और में भी उसी दुकान पर रेजर लेने आया था। फिर मैंने उसे देखा तो में देखता ही रह गया। उसने ब्लू कलर का स्कर्ट पहना था, जो कि घुटनों तक ही था और पीले कलर की टी-शर्ट पहनी थी, उसकी टी-शर्ट के ऊपर से उसके छोटे-छोटे दो नींबू साफ-साफ दिखाई दे रहे थे। उसका फिगर साईज 34-26-36 था, उसने अपने बालों का बेबी कट किया था, वो कमाल की थी।

फिर में सोचने लगा कि अगर ये लड़की मुझे चोदने को मिल जाए तो बहुत ही मज़ा आएगा और फिर मैंने उससे दोस्ती करने का फ़ैसला किया। फिर मैंने उसको हाए बोला तो तब उसने सामने से रेस्पॉन्स देते हुए हाए कहा। फिर मेरी हिम्मत बढ़ी और मैंने उससे उसका नाम पूछा। तब उसने अपना पूजा बताया और फिर मैंने उसे अपना नाम बताया और कहा कि में उस सामने वाली बिल्डिंग में रहता हूँ। तो तब उसने भी कहा कि में तुम्हारे सामने वाली बिल्डिंग में रहती हूँ। फिर मैंने उससे पूछा कि फ्रेंड्स? तो तब वो अपना हाथ सामने करती हुई बोली कि फ्रेंड्स। फिर हम दोनों अपने-अपने घर चले गये। फिर उसके बाद वो मुझसे मिलती रही और कभी-कभी में उसके घर भी जाता था। फिर इस बीच मुझे एक बात का पता चल गया कि उसकी कमज़ोरी चॉकलेट है और में जब भी उससे मिलने जाता तो उसके लिए चॉकलेट लेकर जाता था।

उस दिन रविवार था और फिर में उसके घर गया तो तब मैंने देखा कि उसकी माँ एक रिश्तेदार के पास गयी थी और पूजा घर में अकेली थी। अब में सोफे पर बैठकर टी.वी देख रहा था और फिर वो मेरे साथ मज़ाक करने लगी, मुझे छेड़ने लगी और मारने लगी थी। तो तब में भी उसे मारने लगा। फिर ऐसे ही उसने एक बार मेरी छाती पर मारा। तब मैंने भी जानबूझकर उसकी छाती पर मारा। फिर उसने मेरे पेट पर मारा तो तब मैंने भी उसके पेट पर मारा। फिर उसने मेरे लंड पर मारा तो तब मैंने भी उसकी चूत पर मारा, उस वक़्त मैंने पहली बार किसी लड़की के बूब्स और चूत को छुआ था। अब में समझ गया था कि पूजा को क्या चाहिए?

फिर जब उसने फिर से मेरी छाती पर मारा तो तब मैंने उसके बूब्स को पकड़ लिया और दबाने लगा था। तब वो पूछने लगी कि तुम क्या कर रहे हो? तो तब में उसकी चूची को दबाते हुए बोला कि जो तुझे चाहिए। तब वो कुछ नहीं बोली और चुपचाप बैठी रही, जब उसने लाल कलर का स्कर्ट और पीले कलर का टी-शर्ट पहना था। अब में उसके बूब्स को दबाते-दबाते उसको किस करने लगा था। फिर मैंने उससे पूछा कि कभी किसी से दबवाया है क्या? तो तब उसने शरमाते हुए ना कहा। तब में समझ गया कि वो अभी तक कुँवारी है, उसके बूब्स एकदम मस्त थे। फिर में उसके निपल को अपनी दो उंगलियों से मसलने लगा। तब वो सिसक उठी आआअहह, आआआआहह। फिर मैंने उसे उठाया और बेडरूम में ले गया और बेड पर लेटा दिया। फिर मैंने मेरा शर्ट उतार दिया। फिर मैंने पेंट की चैन खोली और मेरी पेंट उतार दी। अब में बस अंडरवेयर में था और मेरा लंड लोहे की तरह सख़्त हो गया था, मेरे अंडरवेयर का तंबू (टेंट) बना हुआ था।

फिर में उसके बाद उसके पास में सो गया और उसे नजदीक लेते हुए उसके रसीले होंठ चूसने लगा था। फिर मैंने अपने दोनों हाथ उसके बूब्स पर रखे और धीरे-धीरे सहलाने लगा और फिर कुछ देर के बाद में अपना एक हाथ उसकी टी-शर्ट में ले जाकर उसके बूब्स दबाने लगा, उसने ब्रा पहनी थी। फिर में उसकी टी-शर्ट उतारने लगा। तब उसने अपने हाथ ऊपर करते हुए मेरी मदद की, उसने काले कलर की ब्रा पहनी थी। फिर मैंने उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके बूब्स को दबाना शुरू किया। फिर कुछ देर के बाद मैंने अपना एक हाथ उसके पीछे लेते हुए उसकी ब्रा का हुक खोल दिया और उसकी ब्रा निकालकर बेड पर फेंक दी। अब वो मेरे सामने नंगी बैठी थी। फिर में उसे सुलाते हुए उसके ऊपर लेट गया और उसके बूब्स चूसने लगा और कभी-कभी में उसके निपल को अपने दातों के बीच में लेकर उसे काटता तो वो चिल्लाती थी।

अब में एकदम मदहोश हो गया था, क्योंकि में आज पहली बार किसी लड़की को चोदने जा रहा था। फिर थोड़ी देर के बाद मैंने अपना एक हाथ नीचे लाते हुए उसकी स्कर्ट में डाल दिया, तो मेरे हाथ को उसकी नर्म-नर्म चड्डी लगी। अब में उसकी चड्डी के ऊपर से ही उसकी चूत को सहलाने लगा था। फिर जैसे ही मेरा हाथ उसकी चूत पर लगा तो वो सिसक उठी आअहह, आआअहह। फिर मैंने उसकी स्कर्ट के हुक खोल दी और उसका स्कर्ट निकाल दिया, उसने पीले कलर की चड्डी पहनी थी और उसकी चड्डी गीली हुई थी। अब में उसकी चूत को उसकी चड्डी के ऊपर से ही सहलाने लगा था। फिर थोड़ी देर के बाद में बैठ गया और उसकी चड्डी निकालने लगा था। तभी वो इनकार करने लगी। तब मैंने पूछा कि क्या हुआ? तो तब वो बोली कि मुझे शर्म आती है। तब में बोला कि अभी तो मेरे सामने नंगी हो, अब कैसी शर्म? और वैसे भी तुझे अपने पति के सामने नंगा होना ही है तो अभी क्यों नहीं? और ऐसा कहते हुए मैंने उसकी चड्डी निकाल दी।

अब वो मेरे सामने पूरी तरह से नंगी थी। अब वो शर्मा रही थी और फिर उसने अपने दोनों पैर एक के ऊपर एक रख दिए। फिर मैंने उसके दोनों पैरो को अलग करके फैला दिया और उसकी चूत को देखने लगा था, वाह क्या चूत थी उसकी? एकदम कुँवारी। अब में तो पागल हो उठा था, क्योंकि में पहली बार किसी लड़की की चूची और चूत को देख रहा था। अब वो शर्मा रही थी। फिर में अपनी एक उंगली उसकी चूत में डालने लगा, उसकी चूत एकदम टाईट थी। अब में ज़ोर लगाकर अपनी उंगली उसकी चूत में घुसाने लगा था। तभी वो आआआआअहह, आआअहह, हाईईईइई, धीरे, हाईईइई, धीरे घुसाओं, ऊऊऊ करके सिसक उठी। फिर में मेरी दूसरी उंगली घुसाने की कोशिश करने लगा, तो कुछ देर के बाद मेरी दोनों उंगलियाँ उसकी चूत में घुस गयी। अब में मेरी उंगलियाँ उसकी चूत में अंदर बाहर करने लगा था। अब उसको बहुत मज़ा आने लगा था और अब वो मस्त होकर सिसक उठती थी आआहह, आआअहह।

फिर कुछ देर के बाद मैंने अपना अंडरवेयर उतार दिया तो तभी मेरा 6 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लंड स्प्रिंग की तरह उछलकर बाहर आ गया। अब वो मेरा लंड देखकर हैरान हो गयी थी और अपनी चूत को देखती हुई बोली कि गौरव तेरा इतना बड़ा लंड मेरी चूत में कैसे घुसेगा? मेरी चूत का छेद तो इसके सामने काफ़ी छोटा है, ये मेरी चूत में गया तो में तो मर जाऊंगी। तभी में बोला कि चिंता मतकर ये तो तेरे छेद में आराम से जाएगा, पहले-पहले दर्द होगा, लेकिन फिर मज़ा आएगा और फिर जब बच्चा होता है तो इसी छोटे से छेद से निकलता है ना और ऐसा कहते हुए मैंने उसको मेरा लंड चूसने को कहा। तो तब वो मना करते हुए बोली कि छी-छी में नहीं चाटूँगी उसे। तब मैंने उससे पूछा कि क्यों? तो तब उसने कहा कि मुझे गंदा लगता है। तब मुझे याद आया कि में उसके लिए एक चॉकलेट लाया था और उसे देना ही भूल गया था।

फिर मैंने झट से अपनी पेंट की जेब में से चॉकलेट निकाली और उसे खोल दी। अब वो चॉकलेट थोड़ी सी पिघल गयी थी, फिर मैंने वो चॉकलेट अपने लंड पर लगाई और उसके मुँह में मेरा लंड घुसाते हुए बोला कि चॉकलेट तो चाट सकती हो ना और अब मैंने उसका सिर पकड़कर रखा था। तो तब पहले तो वो छुड़ाने की कोशिश करने लगी, लेकिन छुड़ा नहीं पाई थी। फिर में अपनी कमर आगे पीछे करने लगा। अब उसे भी मज़ा आने लगा था और अब वो मेरा लंड पकड़कर खुद ही चूसने लगी थी। फिर मैंने मेरा हाथ उसके सिर से हटाते हुए कहा कि कैसी लगी चॉकलेट? तो तब उसने मेरे लंड को अपने मुँह से निकालते हुए कहा कि ये चॉकलेट तो तेरे लंड के सामने कुछ भी नहीं है और फिर वो मेरा लंड फिर से अपने मुँह में लेकर चूसने लगी। फिर थोड़ी देर के बाद मैंने उसे पैर फैलाकर सोने को कहा। तो वो अपने दोनों पैर फैलाकर सो गयी। अब उसकी गीली चूत मुझे साफ-साफ दिखाई दे रही थी। फिर मैंने उससे पूछा कि घर में बटर है। तब उसने कहा कि हाँ फ्रीज में रखा है और फिर में बटर लेकर आया। अब उसे कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि में बटर क्यों लाया हूँ?

फिर मैंने खूब सारा बटर उसकी चूत के अंदर डाला और अपना लंड उसकी चूत के मुँह पर रखा। फिर जैसे ही मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रखा। तो वो सिसक उठी आहह, आआहह, जल्दी करो, ऊऊऊ, नहीं तो में मर जाऊँगी। फिर मैंने एक धक्का देते हुए अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया। तो वैसे ही वो चिल्लाने लगी उउउइईई माँ, आआआअ में मरररर गयी, आआआआहह। फिर मैंने थोड़ी देर रुकने के बाद दूसरा धक्का लगाया। वो फिर से चिल्ला उठी प्लीज गौरव अपना लंड बाहर निकालो, नहीं तो में मर जाऊंगी। तो तब मैंने कहा कि कुछ नहीं होगा बस थोड़ी देर और सहन कर लो और उसको किस करते हुए और एक धक्का लगाया। अब इस वक्त मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया था और अब वो चिल्लाने वाली थी, लेकिन मैंने उसका मुँह मेरे मुँह में लेकर बंद किया था। अब उसकी सील टूट चुकी थी और वो रो रही थी।

फिर थोड़ी देर तक ऐसे ही सोने के बाद में मेरी कमर धीरे-धीरे हिलाने लगा। तब तक उसको भी मज़ा आने लगा था और अब वो भी अपनी कमर ऊपर नीचे करती हुई मुझे रेस्पॉन्स दे रही थी। फिर मैंने भी अपनी रफ़्तार बढ़ाई और ज़ोर-ज़ोर से अपनी कमर हिलाने लगा था। अब इस दौरान वो दो बार झड़ चुकी थी। फिर करीब 15 मिनट के बाद में भी झड़ गया और उसकी चूत में ही अपना वीर्य निकाल दिया था। फिर कुछ देर तक ऐसे ही सोने के बाद वो उठी और अपने कपड़े उठाने लगी थी। तब मैंने देखा कि उसकी चूत पूरी तरह से गीली थी, उसकी चूत में मेरा वीर्य, उसका पानी और थोड़ा सा खून भी था। फिर वो उठकर बाथरूम में गयी और पेशाब करने के बाद उसने अपनी चूत को साफ किया और फिर अपनी चड्डी पहन ली और बाद में अपनी ब्रा पहनी और फिर टी-शर्ट पहनकर उसने अपनी स्कर्ट को कमर पर चढ़ाया और फिर वो बाहर आ गयी। फिर उस दिन के बाद से मैंने उसे बहुत बार चोदा और खूब मजा किया ।।

धन्यवाद …

error: