ब्यूटी पार्लर वाली आंटी की कमसिन चूत चोदी

Beauty parlour wali ki kamsin chut chodi:

हैल्लो दोस्तों मैं राहुल हूँ और वाराणसी में रहता हूँ | ये बात तब की है जब मैं मेरे स्कूल की पढाई खत्म हो चुकी थी और मैं कॉलेज की दुनिया में प्रवेश कर चुका था और अपनी जवानी की देहलीज में कदम रख चूका था | मैं 18 साल पूरे होने की ख़ुशी के साथ साथ मेरे लंड का साइज़ भी बड़ा हो गया था | मेरे लंड का साइज़ 9 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा हो गया था | मैं जम कर रोज मुट्ठ मारा करता था और मजे लिया करता था और उसका कारण था की मैं अपने दोस्तों के साथ मस्त ब्लू फिल्म देखा करता था | मैंने देखा था की कैसे उसमे लड़की के कोमल दूध गुलाबी चूत और बड़ी सी गोल सी गांड और साथ में दो गोर गोर बड़े बड़े लंड से मजे कर रहे थे | मैंने पहली बार लड़की के दूध को पीते देखा था चूत मारते हुए देखा था गांड चोदते हुए देखा था और लंड चूसते हुए भी देखा था | ये सब देख कर मैं बहुत गरम हो गया था और इसी गर्मी की वजह से मैं अब किसी को भी चोदना चाहता था कैसे भी | मैं बहुत जोश में आ गया था और रास्ते भर जो भी लड़की और आंटी दिखती मैं बस मन में ही उन्हें चोदने लगता |

दोस्तों, मैं अगले दिन ऐसे ही छत में टहल रहा था की मैंने देखा की एक एक मस्त आंटी छत में कपडे सुखाने आई है और मैं उसे देखने लगा | फिर वो चली गई | फिर मैं उसी शाम को  उनके घर के सामने से निकला तो देखा की उनका ब्यूटी पार्लर भी है | फिर मैंने उस आंटी के बारे में पता करने लगा और मुझे पता चला की उसका पति दुबई में रहता है और इसका नाम अनीता है, बच्चे नहीं है | दोस्तों उसका बदन एक दम भरा हुआ था उसकी उम्र 30 साल थी और उसके बड़े बड़े दूध थे और मोटी बड़ी गांड थी | वो एक मस्त बदन की औरत थी जिसपे मेरा दिल आ गया था | मैं जब भी उसको देखता घर आ कर मुट्ठ मारता उसकी याद में | फिर मैंने एक दिन सोचा की इसका पति तो बाहर रहता है तो इसकी चूत में भी तो खुजली होती होगी, क्या ये अपनी चूत में उंगलिया डालती होगी ? क्या इसे लंड की जरुरत होगी ?  यही सब सोच कर मैं उसको लाइन देने लगा और फिर मैंने कुछ दिन बाद ध्यान से देखा की अब मेरी लाइन का फायदा होने लगा है | धीरे धीरे क्यूंकि वो मुझे लाइन देना चालू कर रही थी और वो जब भी मुझे दिखती तो हमेशा कुछ नया सेक्सी सा पहने हुए दिखती और उसका गला हमेशा डीप ही रहता था | मुझे पता था वो चाहती है कि उसके अन्दर के दो कबूतरों को आजादी मिल जाये | मेरा मन हमेशा करता की मैं उसको पकड़ के वहीँ चोद दूँ और अपने लंड की गर्मी उसकी चूत की गर्मी से मिला कर शांत कर दूँ और खूब चोदु और मेरे मन में  और सपनों में बस उसकी चुदाई ही भरी रहती थी |

एकदिन जब मैं उसके घर पहुंचा तब मैंने देखा की वो उस समय अपने पार्लर में एक दम अकेली थी और उसका पार्लर बंद था | मैं उसके घर पहुंचा तो वो मुझे देख कर खुश हो गयी और कहने लगी तुम एक दम सही समय पर आए हो मैंने अपनी शॉप बंद अभी की है | मैंने कहा अच्छा फिर उसने मुझे बैठाया और कहा की मैंने अभी नयी ड्रेस खरीदी है जो तुम्हे दिखानी है तुम बताना की कैसी लग रही है मुझ पर मैंने कहा ठीक है | वो मार्केट से नयी ब्रा, पेन्टी, और गाउन खरीद कर लायी थी और एक एक करके मुझे पहन कर दिखाने लगी | मैं आँखे फाड़ फाड़ के देख रहा था मैं उसे ब्रा और पेन्टी पहने हुए देखना चाहता था | मैंने उनसे कहा की मुझे आपको ये पहने हुए देखना है ऐसे तो मैं खुद ही देख सकता हूँ | फिर वो बोली की अरे यार तुम ही पहना दो ना क्या दिक्कत है और ये कह कर वो मेरी कंधे में सर रख कर शर्मा गई |

मैं जरा भी देर किये बगैर उसका इशारा समझ गया था और तुरंत ही मैंने उसकी साडी में हाथ डाल दिया और दूध दबाने लगा | तो उसने आहाहाह करके सिस्कारी भरी और और कहा की इतनी भी क्या जल्दी है आराम से करो न मैं कोनसा भागे जा रही हूँ | फिर मैंने कहा की ठीक है मेरा तो नया नया एक्स्पेरिंस था तो मैंने कहा की मैंने एक ब्लू फिल्म देखी थी तो मैं तुम्हारे साथ वैसा ही करूंगा जैसा उसमे हुआ था | तो उसने कहा जान मैं तो पूरी तुम्हारी हूँ जो करना है जैसा करना है वैसे करो मुझे कोई परेशानी नहीं है | ये सुन कर मैं बौखला गया पागल हो गया | फिर मैंने उसे अपनी बाहों में खीचा और और उसे किस करने लगा वो भी मेरा साथ दे रही थी और हम दोनों एक दुसरे को प्यार से किस कर रहे थे और एक दुसरे के होंठो को चाट रहे थे और जीभ चूस रहे थे | फिर वो मेरे लंड को ऊपर से सहला रही थी और मैं उसके दूध ऊपर से ही मसल रहा था और वो अहहाह आहाआ अहहहहः अहहहहा अहहहः हाह अआआ हहहहः अहः अहह कर रही थी | फिर मैंने उसके गाल को अच्छे तरीके से चाटा और फिर उसे बेड पर लेटा दिया और उसके गले को चाटते हुए उसको दूध पर आ गया | मैं बारी बारी से दोनों दूध को मसल मसल के चाट रहा था और वो आहाहाह उऊँहहः औऊन्हहहह कर रही थी फिर मैंने उसके दोनों दूध के निप्प्ल्स एक साथ चूसने लगा और वो सिस्कारिया भरते हुए मेरे सर के बाल सहला रही थी | फिर मैंने उसके दोनों हाथो को बारी बारी से चाटा वो गरम हो चुकी थी और मदहोश हुए जा रही थी | फिर मैं उसके पैरों को चूमते हुए चूत चाटने लगा और वो मेरा सर पकड के अपनी चूत में डालने लगी और अहहः हाहा अहहहः अहहहहः हहहहः अहह्हहहा ऊउन्हहहह अहहह्हा ऊउन्ह्ह अहहः अहह्हः करने लगी |

मैंने उसकी चूत 20 मिनट तक चाटी उसी बीच वो 2 बार झड चुकी थी | फिर उसने कहा की अब मुझे तुम्हारा लंड चूसना है अब तुम लेटो और मैं तुम्हारा लंड चूसूंगी | फिर उसने मुझे लिटा दिया और मेरे लंड देख के डर गई और उसने कहा की तुम्हारा लंड तो बहुत मस्त है बहुत बड़ा और मोटा लंड है तुम्हारा | इतना कह कर वो मेरे लंड पर किस करते हुए चूसने लगी मेरे लंड से उसका पूरा मुह भर चुका था और वो मजे से मेरे लंड को चूस रही थी | मैं उसके मुंह को चोद रहा था उसके लंड चूसने के बाद हम दोनों 69 पोजीशन में आ गये | अब मैं उसकी चूत चाट रहा था और वो मेरा लंड चूस रही थी फिर मैंने उससे बोला की चलो अब मुझे तुम्हे चोदना है बहुत सपने देखी हैं तुम्हारी चूत चोदने के | तो उसने कहा की ये समझ लो हो गए तुम्हारे सपने पूरे और वो अपनी टाँगे खोल के लेट गई और मैं उसकी चूत पे अपना लंड रगड़ने लगा और वो कहने लगी अहहहाह अहः आहा अ अह हा अब और मत तडपाओ सीधे डाल दो अपना लंड मेरे राजा अहहः अहहः हा हा हहहः | फिर मैंने अपने लंड में थूक लगा के उसकी चूत के दरवाजे पर टिका के थोडा ही अन्दर डाला होगा और उसकी चीख निकल गई और बोली की आआआह जल्दी निकालो हाय मर गई कितना बड़ा लंड है | मैं इस को नहीं ले पाउंगी प्लीज इसे निकालो मैंने लंड निकाल लिया और फिर उससे कहा की रुको अब दर्द नहीं होगा फिर मैं सरसों का तेल लाया और उसकी चूत और अपने लंड में लगा दिया | फिर मैंने एक ही झटके में पूरा लंड घुसेड दिया उसकी फिर चीख निकल गई और वो फिर लंड निकालने के लिए बोलने लगी |

पर अब मैं कहाँ लंड निकालने वाला था फिर मैं नहीं रुका और उसे चोदता रहा जब तक मैं उसकी चूत में झड नहीं गया वो बोली की तुम्हारे साथ चुदाई करके मुझे बहुत माजा आया | मैंने कहा की अभी तो शुरुआत है जानेमन 20 मिनट बाद फिर मेरा लंड खड़ा हो गया और फिर से मैंने उसको चोदा | मैं उसकी चूत की गर्मी और अपने लंड की गर्मी पूरी निकालना चाहता था और मैं उसको हर एंगल में चोदने लगा उस दिन मैंने उसे 6 बार चोदा था वो बहुत खुश थी और मैं भी | अब तो रोज का काम हो गया था उसे चोदना जब मेरा मन होता मैं उसके घर जा के उसे चोद लेता था उसे भी मेरे साथ चुदाई करने में बहुत मजा आता था |

दोस्तों ये थी मेरी सच्ची कहानी जो मैंने आप लोगों को सुनाई और आशा है की आप लोगों को मेरी ये स्टोरी बहुत पसंद आई होगी | मैं आगे भी आप लोगों को ऐसे ही अपनी मजेदार कहानी भेजता रहूँगा |

error: